नियंत्रण रेखा पर पिछले 24 घंटों में पांच बार संघर्ष विराम का उल्लंघन हुआ

0

पाकिस्तानी सैन्य बलों ने हमलों को तेज करते हुए राजौरी जिले में नौशेरा सेक्टर के तीन इलाकों में नियंत्रण रेखा के पास सैन्य चौकियों एवं असैन्य इलाकों में गोलीबारी करके और मोर्टार दागकर आज एक बार फिर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया।

भाषा की खबर के अनुसार, रक्षा प्रवक्ता कर्नल मनीष मेहता ने कहा, ‘पाकिस्तान सैन्य बलों ने राजौरी जिले के नौशेरा के तीन इलाकों में आज सुबह पांच बजकर 15 मिनट से बिना किसी उकसावे के गोलीबारी की।’ उन्होंने बताया कि पाकिस्तान के सैन्य बलों ने मोर्टार बम दागे, स्वचालित हथियार एवं छोटे हथियारों से हमला किया। भारतीय बलों ने भी इसका करारा जवाब दिया।

नियंत्रण रेखा पर पिछले 24 घंटों में पांच बार संघषर्विराम का उल्लंघन हुआ है। पाकिस्तानी सैनिकों ने कल चार बार संघर्ष विराम का उल्लंघन किया और पुंछ जिले में सौजियां, शाहपुर-करनी, मंडी और केजी सेक्टरों में भारी गोलीबारी की और मोर्टार दागे। इस दौरान पांच आम नागरिक घायल हो गए।

एक सुरक्षा बल शिविर में तेल के कंटेनरों में गोले से आग लगने के कारण कई दुकानें जल गईं। पाकिस्तानी बलों ने दो अक्तूबर को शाम सवा सात बजे से जम्मू जिले की पल्लनवाला बेल्ट के अग्रिम क्षेत्रों में नियंत्रण रेखा के पास गोलीबारी और गोलाबारी शुरू की।

पाकिस्तानी सैनिकों ने एक अक्तूबर को नियंत्रण रेखा के पास हल्के हथियारों की गोलीबारी के बीच, भारतीय चौकियों और रिहाइशी इलाकों में मोर्टार बम, आरपीजीएस और एचएमजीएस दागे थे। उन्होंने 30 सितंबर को जम्मू जिले के अखनूर सेक्टर में पल्लनवाला, चपरियाल, समनाम इलाकों में नियंत्रण रेखा पर छोटे हथियारों से गोलीबारी की थी।

पाकिस्तानी सैनिकों ने गत 29 सितंबर को भी मेंढर के बालनोई इलाके में गोलीबारी की थी। पाकिस्तानी सैन्य बलों ने पुंछ सेक्टर के सब्जियां में नियंत्रण रेखा के पास भारतीय सैन्य चौकियों पर गोलीबारी करके 28 सितंबर को भी संघर्ष विराम का उल्लंघन किया था। पाकिस्तानी बलों ने छह सितंबर को पुंछ सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास भारतीय सेना की चौकियों पर गोलीबारी की थी।

उन्होंने जम्मू जिले के अखनूर सेक्टर में भी नियंत्रण रेखा के पास अग्रिम सैन्य चौकियों पर दो सितंबर को गोलीबारी करके संघर्ष विराम का उल्लंघन किया था। पिछले साल पाकिस्तान की ओर से सीमा पार की गोलीबारी की 405 घटनाएं हुई थीं, जिनमें 16 नागरिक मारे गये थे और 71 लोग घायल हो गये थे।

LEAVE A REPLY