जम्मू-कश्मीर के हालात पर खतरे में BJP-PDP गठबंधन सरकार

0

जम्मू-कश्मीर के ताजा हालात पर ढाई साल पुरानी पीडीपी-बीजेपी गठबंधन सरकार में रार बढ़ती जा रही है। दरअसल, पीडीपी-बीजेपी सरकार राज्य में भीड़ की हिंसा, बढ़ते आतंकवाद और हाल में हुए श्रीनगर लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में कम वोटिंग को लेकर इन दिनों सार्वजनिक व निजी दोनों ही रूप से एक-दूसरे के खिलाफ बयान दे रही हैं।

फाइल फोटो।

गठबंधन के बीच बढ़ती दरार के बीच बीच दोनों दलों ने शुक्रवार(21 अप्रैल) को बंद कमरे में बैठक की। यह बैठक ऐसे समय हुई है जब बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का कुछ दिन बाद राज्य का दौरा होने वाला है। राज्य में बिगड़ती स्थिति पर चर्चा के लिए बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव, उपाध्यक्ष अविनाश राय खन्ना और पीडीपी के मंत्री हसीब द्राबू के बीच बीजेपी मुख्यालय में 90 मिनट तक बैठक चली।

Also Read:  पाक उच्चायुक्त ने भारत के दावे को खारिज किया,कहा- नहीं हुई सर्जिकल स्ट्राइक होता तो देते मुंहतोड़ जवाब

खन्ना ने बाद में संवाददाताओं से कहा कि हमने जम्मू कश्मीर में स्थिति की समीक्षा के लिए चर्चा की। बीजेपी के मंत्री चंद्रप्रकाश गंगा के इस हालिया बयान से दोनों दलों के बीच तनाव बढ़ रहा है कि देशद्रोहियों और पत्थरबाजों से गोली से निपटा जाना चाहिए। इस टिप्पणी से नाराज पीडीपी ने कहा कि घाटी को अशांति में रखने के लिए ‘साजिश’ हो रही है।

Also Read:  इजराइल रवाना हुए PM मोदी, यूजर्स बोले- 'भारतीय प्रधानमंत्री का 'भारत' दौरा कब है?'

पीडीपी नेता पीरजादा मंसूर ने एक बयान में कहा कि ‘इस तरह की घृणित टिप्पणियां राज्य में कुछ नेताओं की न सिर्फ घृणित मानसिकता को दिखाती हैं, बल्कि कश्मीर में ताजा संकट पैदा करने के लिए कुछ तत्वों की बड़ी साजिश का भी खुलासा करती हैं, जिससे कि कश्मीरियों को लगातार शैक्षिक एवं आर्थिक पिछड़ेपन की तरफ ढकेला जा सके।

Also Read:  पीएम मोदी के अपने संसदीय क्षेत्र पहुंचने से पहले ही, वाराणसी पहुंचें नए नोटो से भरे दो ट्रक

पिछले कई दिन से कश्मीर में छात्रों और सुरक्षाबलों के बीच संघर्ष हो रहा है। छात्रों के विरोध प्रदर्शनों के चलते कश्मीर में आज चौथे दिन भी कॉलेजों में कक्षाएं ठप हैं। बीजेपी मुख्यालय में बैठक में बाद में पुलिस महानिदेशक एसपी वैद भी शामिल हुए। खन्ना ने कहा कि ‘हम 29 अप्रैल से हो रहे अमित शाह के दौरे के इंतजामों पर चर्चा करने के लिए यहां हैं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here