रामजस कॉलेज विवाद: जेटली बोले- केवल भारत में ही बुरा शब्द है राष्‍ट्रवाद

0

दिल्‍ली यूनिवर्सिटी रामजस कॉलेज में ABVP की हिंसक झड़प के बाद कारगिल शहीद की बेटी व दिल्‍ली यूनिवर्सिटी की छात्रा गुरमेहर कौर के सोशल मीडिया कैंपेन के बाद शुरू हुई ‘राष्‍ट्रवाद’ की बहस में अब तक कई दिग्गजों के नाम सामने आए जिनमें सर्वाधिक तीखी टिप्पणी अभिनेता अनुपम खेर ने की थी, लेकिन अब इस बहस में वित्‍त मंत्री अरुण जेटली भी आ गए हैं।

जेटली
फाइल फोटो

जनसत्ता की ख़बर के मुताबिक, गुरुवार को दिल्‍ली में एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के दौरान जेटली ने कहा कि ”राष्‍ट्रवाद अच्‍छा शब्‍द है, ये तो केवल इस देश में है कि राष्‍ट्रवाद बुरा शब्‍द है।” इसके अलावा खिलाड़ी वीरेन्द्र सहवाग, पहलवान योगेश्वर दत्त ने भी इसी तरह का अशोभनीय बयान दिया था। लेकिन सोशल मीडिया पर इस तरह के बयानों की कड़ी निंदा होनी शुरू हो गई थी।

दूसरी तरफ, गुरमेहर कौर ने बुधवार को कहा कि वह अब अपनी पढ़ाई पर ध्यान देना चाहती हैं। उन्होंने मीडियाकर्मियों से अपील की कि उन्हें अकेला छोड़ दिया जाए। दिल्‍ली के रामजस कॉलेज में जेएनयू छात्र उमर खालिद को बुलाए जाने को लेकर एबीवीपी और आइसा कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हुई थी, जिसके बाद पुलिस ने बल-प्रयोग किया। इस घटना से दुखी गुरमेहर कौर ने एबीवीपी के खिलाफ सोशल मीडिया पर कैम्पेन चलाया था।

बता दें कि, रामजस कॉलेज में ABVP की हिंसक झड़प के बाद कारगिल शहीद की बेटी गुरमेहर कौर ने सोशल मीडिया पर एक अभियान शुरू किया था जो सारे देश में ABVP के खिलाफ एक बड़े मंच के तौर पर उभर कर सामने आया। गुरमेहर कौर के समर्थन और विरोध में देश के कई बड़े चेहरों के नाम लगातार सामने आ रहे है। सिखों के शीर्ष संगठन अकाल तख्त के प्रमुख ज्ञानी गुरबचन सिंह ने बुधवार को कहा कि सिख समुदाय दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्रा गुरमेहर कौर के साथ है।

गुरमेहर कौर को मिला

कैम्पेन में उन्होंने लिखा था, ‘मैं एबीवीपी से नहीं डरती।’ इसके बाद उनका यह कैम्पेन वायरल हो गया। इसके बाद गुरमेहर को कई खिलाड़‍ियों व राजनेताओं ने निशाना बनाया, जिससे हताश होकर उन्‍होंने खुद को पूरे अभियान से अलग कर लिया था। गुरमेहर कौर ने अब दिल्ली छोड़ दी है और बलात्कार की धमकियां मिलने के बाद वह डरी हुई है। इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली गई हैं। गुरमेहर सिंह को पंजाब सरकार की ओर से सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी। गुरमेहर सिंह के साथ पंजाब पुलिस की दो महिला कास्टेबल रहेंगी, जिन पर उनकी सुरक्षा का जिम्मा होगा।

इस मामले पर ‘जनता का रिपोर्टर’ के एडिटर-इन-चीफ रिफत जावेद ने अपने खास कार्यक्रम Speak Up India के पहले एडिशन में बताया कि गुरमेहर का मन प्रदूषित होने की बात एक जिम्मेदार मंत्री किस प्रकार से कर सकता है जबकि बलात्कार की धमकियां देने वाले AVBP के लोगों को मंत्री महोदय कुछ भी नसीहत देने की बजाय उल्टे गुरमेहर पर ही आरोप मढ़ रहे है।

इस मामले पर ‘जनता का रिपोर्टर’ के एडिटर-इन-चीफ रिफत जावेद ने वाराणसी से लाइव के अपने खास कार्यक्रम में बताया कि ये BHU’s के छात्र ABVP की हिंसक छवि से दूर जाना चाहते है। ये लोग सक्रिय राजनीति का हिस्सा होना चाहते है लेकिन ABVP की हिंसक छवि से परे। ये लोग गाते-बजाते है। नाचते-झूमते है लेकिन राष्ट्रवाद के नाम पर किसी को धमकाते हुए नज़र नहीं आते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here