PM मोदी की तारीफ में बोलीं इवांका ट्रंप- एक चाय बेचने वाले का प्रधानमंत्री बनना अविश्वसनीय

0

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी और सलाहकार इवांका ट्रंप भारत पहुंच गई हैं। इवांका मंगलवार तड़के करीब सुबह 5 बजे हैदराबाद पहुंचीं। मंगलवार शाम रंगारंग कार्यक्रम में पीएम मोदी और इवांका ट्रंप ने रोबोट ‘मित्र’ का बटन दबाकर हैदराबाद में आयोजित आठवें वैश्विक उद्यमिता शिखर सम्मेलन (जीईसी 2017) का उद्घाटन किया।इस दौरान इवांका ने अपने भाषण की शुरुआत करते हुए कहा कि हैदराबाद जो इनोवेशन हब के रूप में तेजी से आगे बढ़ रहा है, वहां स्वागत करने के लिए धन्यवाद। इवांका ने इस शानदार समारोह के लिए भारत को धन्यवाद कहा। साथ ही इवांका ने पीएम मोदी का भी शुक्रिया किया।

पीएम मोदी के बचपन में चाय बेचने का जिक्र करते हुए इवांका ने कहा कि एक चाय बेचने से लेकर भारत का प्रधानमंत्री बनने का सफर अविश्वसनीय है। इवांका ने मोदी सरकार के नेतृत्व में भारत के विकास की जमकर तारीफ की। इवांका ने पीएम मोदी की तारीफ में कहा कि भारत के लिए आप जो कर रहे हैं उसके लिए धन्यवाद।

इवांका ने कार्यक्रम में कहा कि अमेरिका के लोग भारतीयों से प्रेरणा लेते हैं। व्हाइट हाउस में भारत का एक सच्चा दोस्त है। पीएम मोदी की तारीफ में उन्होंने अपने बचपन में चाय बेचने से लेकर भारत का प्रधानमंत्री बनने तक आपने साबित किया है कि बदलाव संभव है।

उन्होंने कहा कि मुझे यह देखकर गर्व हो रहा है कि पहली बार ऐसे किसी कार्यक्रम में 1500 महिला आंट्रप्रन्योर हिस्सा ले रही हैं। उन्होंने कहा कि तकनीक से भरे इस प्राचीन शहर में आना अद्भुत है। वहीं पीएम मोदी ने अपने भाषण के दौरान महिला सशक्तिकरण पर बात करते हुए गार्गी के शास्त्रार्थ, अहिल्या बाई होल्कर और रानी लक्ष्मीबाई के साहस का जिक्र किया।

सम्मेलन से जुड़ी खास बातें 

हैदराबाद इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर (एचआईसीसी) में होने वाले इस सम्मलेन में 150 देशों के 1,500 उभरते हुए उद्यमी, निवेशक और पारिस्थिकि तंत्र के समर्थक हिस्सा ले रहे हैं। इस सम्मलेन को अमेरिकी विदेश विभाग व अमेरिका की अन्य एजेंसियां भारत के नीति आयोग के साथ मिलकर आयोजित कर रही हैं।

इस समिट में इवांका ट्रंप अमेरिका के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगी तो पीएम मोदी भारत का। इस कार्यक्रम को देखते हुए हैदराबाद में 10,000 हजार सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं। इवांका ट्रंप की सुरक्षा देखते हुए फोर्स को स्पेशल ट्रैनिंग दी गई है और यूएस सिक्रेट सर्विस भी सुरक्षा को लेकर पूरा ध्यान रख रही है।

इवांका ट्रंप 28 नवंबर को उद्घाटन समारोह के दौरान प्रधानमंत्री मोदी के साथ रहेंगी और 29 नवंबर को विमिन इन आंट्रप्रन्योरियल लीडरशिप और विमिन इन वर्कफोर्स नाम से दो पैनल डिस्कशन में भाग लेने से पहले वह मुख्य भाषण भी देंगी।

तीन दिन की इवेंट में भारत और अमेरिका से 400-400 उद्यमी भाग लेंगे, जबकि 400 उद्यमी बाकी की दुनिया के होंगे। 300 से ज्यादा इन्वेस्टर्स के इस कार्यक्रम में आने की उम्मीद है। दुनियाभर के 40 देशों के अलग-अलग पृष्ठभूमि के वक्ता इस सम्मेलन को संबोधित करेंगे और करीब 100 देशों के आंट्रप्रन्योर्स इसमें हिस्सा लेंगे।

ऐमजॉन जैसी प्रमुख कंपनियों के अलावा पेटीएम के विजय शेखर शर्मा, ओयो रूम्स के रितेष अग्रवाल बॉश, सीमंस, मर्सिडीज जैसे कॉर्पोरेट लीडर्स, वन एफसी के फाउंडर चत्री सितयोतॉन्ग, माइकेलिन स्टार शेफ विकास खन्ना, निजी प्रयास से अंतरिक्ष यात्रा करनेवाली अनुषा अंसारी जोसे मशहूर नाम इसमें भाग लेंगे।

इसके अलावा भारतीय टेनिस चैंपियन सानिया मिर्जा, गूगल की उपाध्यक्ष डायना लुईस पैट्रिसा लेफील्ड तथा अफगान सीटाडेल की सीईओ राया महबूब जैसी विभिन्न क्षेत्रों में अपनी पहचान बनाने वाली महिलाएं विभिन्न सत्रों में अपनी बातों को रखेंगी। पीएम मोदी ने इस साल जून में अमेरिका की यात्रा के दौरान इवांका को जीईएस में हिस्सा लेने के लिए व्यक्तिगत रूप से आमंत्रित किया था।

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने 2010 में पहली जीईएस वाइट हाउस में की थी। उसके बाद से यह प्रोग्राम केन्या, मोरक्को, तुर्की, यूनाइटेड अरब अमीरात और मलेशिया में हो चुका है। पिछले साल इवेंट अमेरिका में सिलिकॉन वैली में हुई थी। तब इसमें 160 देशों के 1,500 डेलिगेट्स ने हिस्सा लिया था।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here