इस्लाम के शांति संदेश को तोड़ा-मरोड़ा जा रहा : नकवी

0

भारत के अल्पसंख्यक मामलों के राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने यहां कहा कि कुछ भ्रमित लोगों की गतिविधियों से इस्लाम के वास्तिवक संदेश- दया, एकता और शांति को तोड़-मरोड़कर पेश किया जा रहा है। नकवी ने पेरिस में शुक्रवार देर रात हुए आतंकवादी हमलों के बाद शनिवार को मिस्र में एक कार्यक्रम में यह टिप्पणी की। पेरिस के छह अलग-अलग स्थानों पर ये धमाके हुए, जिसमें 129 लोगों की मौत हो गई और 300 से अधिक लोग घायल हो गए। आतंकवादी समूह इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने इसकी जिम्मेदारी ली है।

नकवी ने इस्लामिक मामलों की उच्च परिषद के 25वें अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में कहा कि आतंकवाद और कट्टरपंथ मानवता तथा इस्लाम के सबसे बड़े दुश्मन हैं। इस सम्मेलन में 42 देशों के इमामों, धार्मिक नेताओं और विद्वानों ने शिरकत की।

उन्होंने कहा कि भारत में सांस्कृतिक एकता और लोकतंत्र की वजह से आतकंवाद देश में अपनी जड़ें जमाने में असफल रहा है। यह हमारा कर्तव्य है कि हम आगे आकर आतंकवाद और कट्टरपंथ को जड़ से उखाड़ फेंकने की दिशा में काम करें।

नकवी ने कहा कि इस्लाम में हत्या की सख्त मनाही है। इस्लाम में पैगंबर ने चेतावनी दी है कि जो किसी की हत्या करता है वह जन्नत नहीं जाएगा।

उन्होंने कहा कि सातवीं सदी में इस्लाम सामाजिक न्याय, आर्थिक समानता, लैंगिक समानता और राज्य व्यवस्था के लोकतंत्रीकरण के सिद्धांतों के आधार पर आधुनिकता की श्रेणी में आगे था।

उन्होंने कहा कि इस्लाम ने कई सदियों तक विश्व के विभिन्न क्षेत्रों में शांति एवं स्थिरता प्रदान की है।

LEAVE A REPLY