ढाका के आतंकी हमले पर इरफान ने कहा, “क्‍या मुसलमान चुप बैठा रहे और मज़हब को बदनाम होने दे?”

0

पिछले दिनों रमजान और क़ुरबानी पर अपने विवादित बयानों की वजह से सुर्ख़ियों में रहने वाले बॉलीवुड कलाकार इरफान ने अब मुसलामानों से पूछा है कि वो बांग्लादेश की राजधानी ढाका के आतंकी हमलों पर खामोश क्यों हैं।

ढाका के आतंकी हमले में कम से कम 20 लोगों की जान चली गई थी। मरने वालों में ज़्यादातर विदेशी थे। एक भारतीय नागरिक भी इस हमले मारी गई थी।

13532866_1745426592368888_5747028465011282860_n

सोशल मीडिया पर पीड़ितों से अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए इरफान ने आतंकियों को आड़े हाथों लेते हुए इस्‍लाम का नाम खराब करने की आलोचना की। इरफान ने मुस्लिम समुदाय की चुप्‍पी पर सवाल भी उठाए।

इरफान ने फेसबुक पर लिखा, ”बचपन में मज़हब के बारे में कहा गया था कि आपका पड़ोसी भूखा हो तो आपको उसको शामिल किए बिना अकेले खाना नहीं खाना चाहिए। बांग्‍लादेश की खबर सुनकर अंदर अजीब वहशत का सन्‍नाटा है। कुरान की आयतें ना जानने की वजह से रमजान के महीने में लोगाें को कत्‍ल कर दिया गया। हादसा एक जगह होता है, बदनाम इस्‍लाम और पूरी दुनिया का मुसलमान होता है। वो इस्‍लाम जिसकी बुनियाद ही अमन, रहम और दूसरों का दर्द महसूस करना है। ऐसे में क्‍या मुसलमान चुप बैठा रहे और मज़हब को बदनाम होने दे? या वो खुद इस्‍लाम के सही मायने को समझे और दूसरों को बताए, कि जुल्‍म और कत्‍लोंघरात (नरसंहार) करना इस्‍लाम नहीं है।”

LEAVE A REPLY