‘अमित शाह’ एक पारसी शब्द है, शहरों से पहले BJP को उनका नाम बदलना चाहिए: प्रो. इरफान हबीब

0
4
File photo: NDTV

इस वक्त देश में विशेष तौर पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) शासित राज्य उत्तर प्रदेश में शहरों, रेलवे स्टेशनों और सड़कों का नाम बदलने का दौर चल रहा है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहले ही मुगलसराय जंक्शन का नाम पं. दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन, इलाहाबाद का नाम प्रयागराज और फैजाबाद का नाम अयोध्या करने का ऐलान कर चुके हैं। इस बीच खबर है कि राज्य के ऐसे तमाम शहर हैं, जिनके नाम बदले जाएंगे और इन नामों में मुजफ्फरनगर और आगरा शहर का नाम भी जुट गया है।

File photo: NDTV

हालांकि अब यूपी के शहरों के नाम बदले जाने का विरोध भी शुरू हो गया है। उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने योगी सरकार के मुगलसराय स्टेशन, इलाहाबाद और फैजाबाद का नाम बदले जाने के फैसले का विरोध करते हुए इसे मुद्दों से भटकाने के लिए किया गया ‘नाटक’ करार दिया है। साथ ही नसीहत भी दी कि बीजेपी सरकार शहरों का नाम बदलने से पहले अपने मुस्लिम नेताओं का नाम बदलें।

वहीं, प्रसिद्ध इतिहासकार प्रो. इरफान हबीब ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पर तंज कसते हुए तीखा हमला बोला है। समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, इरफान ने कहा कि शाह (बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह) संस्कृत का नहीं बल्कि एक पारसी का शब्द है। अगर बीजेपी शहरों के नाम बदल रही है तो सबसे पहले उन्हें अपने नाम से शुरू करना चाहिए।

आगरा को ‘अग्रवन’ करने की मांग 

ताजा मामले में बीजेपी विधायक जगन प्रसाद गर्ग ने आगरा शहर को लेकर मांग की है कि आगरा को ‘अग्रवन’ नाम किया जाए। आगरा उत्तर से बीजेपी विधायक जगन प्रसाद गर्ग ने कहा है कि वो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर आगरा का नाम बदलकर ‘अग्रवन’ रखने की अपील करेंगे। गर्ग ने सीएम योगी आदित्यनाथ को लिखे पत्र में कहा है कि आगरा में बहुत सारे वन (जंगल) और अग्रवाल (महाराजा अग्रसेन के अनुयायी) हैं इसलिए शहर का नाम बदलकर ‘अग्रवन’ किया जाना चाहिए।

गर्ग के अनुसार, 5 हजार साल पहले आगरा का नाम अग्रवन ही था। समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, बीजेपी विधायक जगन प्रसाद गर्ग ने कहा कि 5,000 साल पहले इस जगह को अग्रवन कहा जाता था, इसलिए इसका नाम बदलकर वही कर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि यहां अग्रवाल समाज के कई लोग रहते हैं। आगरा शब्द का कोई मतलब नहीं निकलता और मैं मुख्मयंत्री से मिलकर इसे बदलने की अपील करूंगा।

मुजफ्फरनगर का नाम भी बदलने की तैयारी में योगी सरकार

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर से बीजेपी विधायक संगीत सोम ने कहा है कि राज्य में अभी और कई शहरों के नाम बदले जाएंगे। सोम ने कहा कि मुजफ्फरनगर का नाम बदलकर लक्ष्मी नगर किया जाएगा। समाचार एजेंसी ANI से बातचीत में सोम ने कहा, “अभी तो बहुत शहरों के नाम बदले जाने हैं। मुजफ्फरनगर का नाम बदला जाना है। मुजफ्फरनगर का नाम लक्ष्मीनगर लोगों की पहले से मांग है। मुजफ्फरनगर नाम एक नवाब मुजफ्फर अली ने किया था। लोगों की सदियों से डिमांड है कि इसका नाम मुजफ्फरनगर किया जाए।”

सोम ने आगे कहा, “मुगलों ने यहां की संस्कृति को मिटाने का काम किया है। खासतौर से हिंदुत्व को मिटाने का काम किया है। हम लोग उस संस्कृति को बचाने के लिए काम कर रहे हैं। बीजेपी उस पर आगे बढ़ेगी।”

आपको बता दें कि देशभर में राम मंदिर के मुद्दे पर छिड़ी बहस के बीच मंगलवार को अयोध्या में दीपोत्सव कार्यक्रम के दौरान फैजाबाद जिले का नाम बदलकर अयोध्या किए जाने की घोषणा की। इलाहाबाद का नाम बदल कर प्रयागराज करने के कुछ ही दिनों बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को घोषणा की कि फैजाबाद जिला अब से अयोध्या के नाम से जाना जाएगा। छोटी दिवाली पर भव्य दीपोत्सव कार्यक्रम के दौरान योगी ने अयोध्या को कई सौगातें दीं।

फैजाबाद से पहले ही यूपी की योगी सरकार कई स्थानों के नाम बदल चुकी है। इससे पहले इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज और मुगलसराय जंक्शन का नाम पं. दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन कर चुकी है। यूपी के अलावा अन्य राज्यों में भी नाम बदलने की कवायद शुरू हो गई है। बीजेपी शासित राज्य गुजरात में भी अहमदाबाद का नाम बदलने की कोशिशें तेज हो गई हैं। मुख्यमंत्री विजय रुपाणी के नेतृत्व वाली गुजरात सरकार अहमदाबाद शहर के नाम को बदलने पर विचार कर रही है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here