इंदौर : 3 साल की बच्ची का रोना बंद नहीं हुआ तो मामा ने गला घोंटकर मार डाला

0

पुलिस ने इंदौर में तीन वर्षीय बच्ची की हत्या के आरोप में उसके मामा को गिरफ्तार किया है. इस शख्स ने बच्ची को कथित तौर पर इसलिए जान से मार डाला, क्योंकि वह मां को याद कर लगातार रो रही थी. शहर पुलिस अधीक्षक (सीएसपी) सुनील पाटीदार ने बताया कि चंदन नगर थाना क्षेत्र में जेनी डावर (03) की हत्या के आरोप में उसके मामा दिलीप बदिया (23) को गिरफ्तार किया गया।

उन्होंने बताया कि जेनी की मां उसे 16 अक्तूबर को दिलीप के भरोसे घर छोड़कर काम पर गई थी। कुछ देर बाद मां को याद कर बच्ची जोर-जोर से रोने लगी। आरोप है कि जब बच्ची चुप नहीं हुई, तो दिलीप ने गुस्से में गला घोंटकर अपनी मासूम भांजी की हत्या कर दी।

पाटीदार ने बताया, अपना अपराध छिपाते हुए दिलीप ने जेनी के माता-पिता से कहा कि उल्टियों की वजह से बच्ची की तबीयत खराब है. वह बच्ची की लाश को अपने कंधे पर लादकर जिला अस्पताल भी ले गया. डॉक्टरों ने उसकी मौत की पुष्टि के बाद पुलिस को मामले की सूचना दी और उसके शव का पोस्टमॉर्टम कराने को कहा।

भाषा की खबर के अनुसार, उन्होंने बताया, जब तक हमारी टीम अस्पताल पहुंचती, बच्ची के शव को पोस्टमॉर्टम के बगैर ही वहां से ले जाया जा चुका था. हमने बच्ची के घर जाकर उसका शव बरामद किया. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में तसदीक हो गई कि उसकी गला दबाकर हत्या की गई है. पाटीदार ने कहा कि पुलिस ने जब सख्ती के साथ दिलीप से पूछताछ की, तो उसने अपनी भांजी की हत्या का जुर्म कबूल कर लिया।

उन्होंने बताया, पुलिस की पूछताछ में दिलीप ने कहा कि जब काफी देर तक जेनी का रोना बंद नहीं हुआ, तो उसने उसे दो थप्पड़ मारे. इससे वह और जोर से रोने लगी. इससे गुस्साये दिलीप ने बच्ची का गला इतनी जोर से दबाया कि उसकी मौके पर ही मौत हो गई. पुलिस मामले की विस्तृत जांच कर रही है।

LEAVE A REPLY