पीएम मोदी से मुलाकात से ठीक पहले ट्रंप ने दी धमकी, कहा- ‘भारत द्वारा शुल्क वृद्धि स्वीकार्य नहीं, लेना होगा वापस’

0

जापान में आयोजित जी-20 सम्मेलन में होने वाली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुलाकात से ठीक पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत को धमकी भरे अंदाज में शुल्क वृद्धि कम करने को कहा है। ट्रंप ने गुरुवार को भारत द्वारा अमेरिकी उत्पादों पर शुल्क वृद्धि को अस्वीकार्य बताया और इसे वापस लेने की मांग की। बता दें कि जापान के शहर ओसाका में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की मुलाकात होनी है।

(Photo: Reuters)

जी-20 सम्मेलन से पहले ट्रंप ने गुरुवार को ट्वीट किया, “मैं प्रधानमंत्री (नरेंद्र) मोदी से उन मुद्दों पर मिलने के लिए उत्साहित हूं जिनके अनुसार, अमेरिका पर कई सालों से बहुत ज्यादा शुल्क लगाया गया है, और हाल ही में शुल्कों को और ज्यादा बढ़ा दिया गया है।” उन्होंने कहा, “यह अस्वीकार्य है। शुल्क को कम करना होगा।”

बता दें कि जापान के ओसाका में होने जा रहे जी-20 शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जापान पहुंच चुके हैं। वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप व्हाइट हाउस भी बुधवार को रवाना हो गए। जी 20 शिखर सम्मेलन के दौरान पीएम मोदी अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के अलावा विश्व के कई प्रमुख नेताओं से भी मुलाकात करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह छठा जी-20 शिखर सम्मेलन है। जापान के ओसाका शहर में 28-29 जून को इस शिखर सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है।

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे से मिले पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को जी-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने जापान पहुंचे। इस दौरान पीएम मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के बीच मुलाकात हुई। प्रधानमंत्री मोदी ने जापान के अपने समकक्ष शिंजो आबे से गुरूवार को मुलाकात कर साझा हितों से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। जापान में रीवा युग की शुरुआत के बाद से दोनों नेताओं के बीच यह पहली मुलाकात है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अक्टूबर में सम्राट नारुहितो के राज्याभिषेक समारोह में हिस्सा लेंगे। पीएम मोदी ने अपने साथ जी-20 सम्मेलन में हिस्सा लेने जापान पहुंचे भारतीय प्रतिनिधिमंडल के गर्मजोशी से स्वागत के लिए आबे का शुक्रिया अदा किया। उन्होंने जी-20 के अध्यक्ष के रूप में जापान के नेतृत्व की भी प्रशंसा की।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here