नवरात्र पर जज्बा दिखातीं 'हिंदुस्तान की बेटियां'

0

हिंदुस्तान में बेटियों का पढ़ना और बेटियों का बढ़ना क्यों जरूरी है आखिर क्यों बेटियों के सम्मान को ठेस पहुंचाई जा रही है। इन सब मुद्दों और बातों को गीत संगीत और नाट्य प्रस्तुति के जरिए दिलचस्प और असरदार तरीके से दिल्ली में आयोजित ‘हिंदुस्तान की बेटियां’ समारोह में रखा गया। बेटियों के लिए काम करने वाली संस्था नंदिनी फाउंडेशन और सहेली एनजीओ की ओर से आयोजित इस समारोह में दिल्ली के अलावा उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, झारखंड और उत्तराखंड से आई बेटियों ने भी हिस्सा लिया।

समारोह का संयोजन और संचालन वरिष्ठ टीवी पत्रकार अमर आनंद ने किया। हिंदुस्तान की बेटियां सम्मान से सम्मानित होने झारखंड से आईं कशिश न्यूज की एंकर प्रियंका मिश्रा ने अमर आनंद के साथ मिलकर समारोह का संचालन किया। अमर आनंद और उनकी टीम का दिल्ली में सामाजिक मुद्दों पर 20 वां संगीतमय समारोह था। समारोह में गीत संगीत का जिम्मा उठाया डीएमएस आरोही ने।
डीएएमएस आरोही के कलाकारों ने जहां बेटियों के जज्बे को उकेरने वाले गीतों की पस्तुति दी वहीं हिंदुस्तान की बेटियां समारोह के लिए चुनी गई एमपी की विज्ञान संचारक सारिका घारू ने भी अपनी सुरीली आवाज से सबका मन मोह लिया। हिंदुस्तान की बेटियां सम्मान से सम्मानित बेटियां दिल्ली की शैली यशस्वी, लखनऊ की गिन्नी सहगल और रुद्रपुर की तरनप्रीत कौर ने नृत्य की लुभावनी प्रस्तुतिय़ां दी।
इसके अलावा हिंदुस्तान की बेटियां समारोह में सम्मानित होने आईं मेरठ से आई रंगकर्मी जूही त्यागी ने अपनी नाट्य प्रस्तुति के जरिए सबको नारी का सम्मान करने की न सिर्फ नसीहत दी बल्कि लोगों को सोचने पर मजबूर कर दिया। सहेली एनजीओ के बच्चों ने दहेज के खिलाफ आकर्षक तरीके से दहेज के खिलाफ लड़ाई लड़ने की अपील मौजूद लोगों से की।
समारोह में सीनियर वेब जर्नलिस्ट पूजा मेहरोत्रा को यमुना पर लिखी उनकी किताब के लिए सम्मानित किया गया, वहीं मऊ से आईं सामाजिक कार्यकर्ता रश्मि सिंह, न्यूज वन इंडिया की एंकर निदा अहमद और नेपाल वन की एंकर रिंकू मिश्रा दिल्ली की सामाजिक कार्यकर्ता पूनम दुबे, सरस्वती शर्मा, राम मनोहर लोहिया हॉस्रपिटल की सीनियर नर्स पुष्पा दास, पीआर प्रोफेसनल रजनी अग्रवाल, फैशन स्टाइलिस्ट रेनू सिंह महाराष्ट्र के औरंगाबाद से आईं कवयित्री दोलन रॉय को भी सम्मानित किया गया।

इसके साथ ही एक महिला के जीवन संघर्ष पर रघुवीर यादव और दीवा को केंद्र में रखकर बनी अपकमिंग फिल्म जैकलीन आई एम कमिंग के क्रिएटिव डायरेक्टर और स्क्रिप्ट राइटर पिंकू दुबे को भी इस समारोह में सम्मानित किया गया। समारोह की मुख्य अतिथि देश को अंतरराष्ट्रीय खेलों में सात बार गोल्ड मेडल दिलवाने का गौरव हासिल करने व वाली महिला कबड्डी कोच डॉ. सुनील डबास ने इस तरह के प्रयासों की सराहना की। डॉक्टर डबास ने कहा कि बेटियों के हौसले को बढ़ाने वाले ऐसे समारोहों की समाज में जरूरत है और बेटियों के बुलंदी पर पहुंचने से ही देश बुलंदी पर होगा।
समारोह की अति विशिष्ट अतिथि पहली महिला कार्टूनिस्ट मीता रॉय ने इस मौके पर डॉ सुनील डबास को केरिकेचर भेंट किया।  दोनों अतिथियों ने अलग अलग फील्ड से ताल्लुक रखने वाली देश की तकरीबन डेढ़ दर्जन बेटियों को सम्मानित किया। समारोह में विशिष्ट अतिथि के रूप में शिरकत करने आए दिल्ली पुलिस के डीसीपी जितेंद्र मणि ने अपनी किताब कहीं तो हंसी हो सम्मान पाने वाली बेटियों को भेट की।
समारोह में समाचार4मीडिया के डिप्टी एडिटर अभिषेक मेहरोत्रा और आजतक की एंकर शशि शर्मा ने भी समारोह में विशिष्ट अतिथि के रूप में शिरकत की। समाचार4मीडिया और लोकसत्य समारोह के सहयोगी थे। सीनियर टीवी पत्रकार पंकज शर्मा, तेजिंदर सिंह अवलीन कौर और बिजेंद्र समारोह को आयोजित करने वाली टीम का हिस्सा रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here