VIDEO: जस्टिस जोसेफ का नाम लौटाए जाने पर कांग्रेस का मोदी सरकार पर हमला, कपिल सिब्बल बोले- ‘खतरे में है हिंदुस्तान की न्यायिक व्यवस्था’

0

सुप्रीम कोर्ट में नियुक्ति के लिए कोलेजियम (जजों की कमिटी) की सिफारिश के बाद भी उत्तराखंड उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस केएम जोसेफ के नाम पर केंद्र सरकार की मंजूरी को लंबित रखने पर सियासी संग्राम छिड़ गया है। कांग्रेस ने गुरुवार (26 अप्रैल) को इसे न्यायापालिका में हस्तक्षेप करार दिया और केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला बोला। कांग्रेस के नेता कपिल सिब्बल ने जस्टिस जोसेफ को सुप्रीम कोर्ट नहीं भेजने पर केंद्र को आड़े हाथों लिया।कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने प्रेस कॉन्फेंस कर कहा कि हिंदुस्तान की न्यायिक व्यवस्था खतरे में है। उन्होंने कहा कि सरकार अपने लोगों को न्यायिक व्यवस्था में लाना चाहती है। सरकार अपने लोगों को हाईकोर्ट में पैक्ड करना चाहती है। कांग्रेस नेता ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने अपनी वेबसाइट पर लिखा है कि केएम जोसेफ सबसे काबिल जज हैं। उसके बावजूद उनकी नियुक्ति नहीं हुई।

सिब्बल ने कहा कि सरकार केवल वही जज चाहती है जिन पर उनकी सहमति हो। मोदी सरकार पर कोलेजियम को नजरअंदाज करने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस नेता ने कहा कि सरकार का एक ही फंडा है कि हम जिनसे समहत नहीं होंगे, उसकी नियुक्ति की मंजूरी नहीं देंगे। उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान की न्यायपालिका खतरे में है। हम कब से कह रहे हैं। अगर इसकी सुरक्षा नहीं की जाती है तो लोकतंत्र खतरे में है।

कांग्रेस नेता कहा कि कहा कि, ‘सरकार हाई कोर्ट में अपने लोगों को बैठाना चाहती है। जस्टिस केएम जोसेफ पर कोलेजियम की अनुशंसा को सरकार पास नहीं कर रही है। जोसेफ सबसे काबिल जजों में शुमार होते हैं, लेकिन केंद्र सरकार उनकी नियुक्ति में अड़ंगा लगा रही है। केंद्र को लगता है कि वह काबिल ही नहीं है।’ साथ ही सिब्बल ने कहा कि जस्टिस जोसेफ ने ही उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लगाने के एनडीए सरकार के फैसले को पलट दिया था।

बता दें कि सरकार ने जस्टिस केएम जोसेफ की पदोन्नति रोके रखने का फैसला किया है। जस्टिस जोसेफ उत्तराखंड उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश हैं। कानून मंत्रालय से जुड़े सूत्रों के अनुसार उत्तराखंड उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश केएम जोसेफ को पदोन्नत करने की कॉलेजियम की दूसरी सिफारिश पर विचार कर रही है। कॉलेजियम ने सुप्रीम कोर्ट के जज के रूप में उत्तराखंड के मुख्य न्यायाधीश केएम जोसेफ की नियुक्ति की भी सिफारिश की थी।

 

Kapil Sibal: Indian Judiciary is in danger.

Explosive revelation by Kapil Sibal. Alleges RSS link to Judge Loya case.

Posted by Janta Ka Reporter on Thursday, 26 April 2018

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here