भारतीय सेना के पास प्रयाप्त गोला-बारूद की कमी

0

आये दिन भारत-पाकिस्तान सीमा पर बढ़ते सीज़फायर के मामले और आतंकी हमलों के ख़तरे के बीच भारतीय सेना ने रविवार को स्वीकार किया कि अब उनके पास गोलाबारूद की कमी है, हालांकि उसने यह भी कहा कि सरकार इस मामले से अवगत है और इस मुद्दे के समाधान के प्रयास किए जा रहे हैं.

Also Read:  Actions against insurgency led to change in mindset, says Manohar Parrikar

सेना की उत्तरी कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा ने कहा, “संसद में इस मामले का जिक्र हो चुका है| गोला बारूद की कुछ कमी है और इसे किसी की ओर या किसी सीमा की ओर निर्देशित मत करिए”| हुड्डा ने कहा कि इस कमी से सेना के रोजमर्रा के अभियानों पर कोई असर नहीं है, लेकिन युद्ध जैसी स्थिति के लिए बड़ी मात्रा में भंडारण की जरूरत होगी|

Also Read:  कलक्टर के सामने ही बीजेपी सांसद को थप्पड़ मारकर युवक फरार

“सैनिकों की जरूरत समझती है सेना” हुड्डा ने कहा, ‘कुछ कमी है और सरकार इससे अवगत है| इसके निदान को लेकर प्रयास किए जा रहे हैं| “वन रैंक वन पेंशन” के क्रियान्वयन के बारे में उन्होंने कहा कि सरकार ने इसे स्वीकार किया है और मैं आशावान हूं कि यह होगा| हुड्डा ने कहा कि सेना अपने सैनिकों की जरूरतों को समझती है और वह उनकी जरूरतों को लेकर संवेदनशील है|

Also Read:  उड़ी हमले के बाद सेना ने की कार्रवाई, ब्रिगेडियर सोमशेखर को हटाया

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here