एयरफोर्स के गुप्त दस्तावेजों को ISI तक पहुंचाने के आरोप में ग्रुप कैप्टन अरुण मारवा गिरफ्तार

0

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए जासूसी करने और उसको गुप्त दस्तावेज मुहैया कराने के आरोप में एयरफोर्स के ग्रुप कैप्टन रैंक के अधिकारी अरुण मारवाह (51 साल) को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है। सूत्रों के अनुसार कुछ माह पहले आईएसआई के एक एजेंट ने लड़की बनकर मारवाह से संपर्क किया था। इसके बाद दोनों में फोन पर लगातार चैटिंग होने लगी।

NDTV के मुताबिक, फोन पर चैटिंग के दौरान दोनों एक दूसरे को अश्लील मैसेज भेजते थे। लड़की के रूप में पूरी तरह अपने जाल में फंसाने के बाद आईएसआई एजेंट ने उनसे कई गोपनीय दस्तावेज की मांग की। आरोप है कि उन्होंने कुछ गोपनीय दस्तावेज उसे मुहैया करा दिए।

कुछ हफ्ते पहले एयरफोर्स के वरिष्ठ अधिकारी को जब इसकी जानकारी मिली तो उन्होंने आंतरिक जांच बैठा दी। जांच में मारवाह की जासूसी में संलिप्तता पाए जाने पर एयरफोर्स के वरिष्ठ अधिकारी ने दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक से इसकी शिकायत की। पटनायक ने मामले की गंभीरता को देखते हुए स्पेशल सेल को इसकी जांच सौंप दी।

जांच रिपोर्ट आने के बाद स्पेशल सेल ने गुरुवार सुबह मुकदमा दर्ज कर मारवाह को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही दोपहर बाद पटियाला हाउस कोर्ट स्थित मुख्य महानगर दंडाधिकारी दीपक सहरावत की अदालत में पेश कर उन्हें पांच दिन की रिमांड पर ले लिया। स्पेशल सेल ने आरोपी का मोबाइल जब्त कर लिया है।

स्पेशल सेल उनसे पूछताछ कर लड़की बनकर भेंट करने वाले आईएसआई एजेंट व कौन-कौन से गोपनीय दस्तावेज उसे मुहैया कराए गए हैं, इस बारे में पता लगा रही है। सूत्रों के मुताबिक वायुसेना मुख्यालय में तैनात रहे ग्रुप कैप्टन को काउंटर इंटेलिजेंस विंग की ओर से करीब 10 दिनों तक की गई पूछताछ के बाद दिल्ली पुलिस को सौंप दिया गया।

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here