प्रणब मुखर्जी का बड़ा बयान, कहा- पिछली सरकारों द्वारा रखी गई मबजूत नींव के चलते भारत बनेगा 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था

0

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने इशारों-इशारों में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा है। मुखर्जी ने गुरुवार को कहा कि पिछली सरकारों की तरफ से रखी गई मजबूत नींव के कारण भारत 2024 तक 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बन जाएगा। मुखर्जी ने कहा कि आजादी के बाद से भारतीयों के प्रयासों के कारण कई आर्थिक और सामाजिक क्षेत्र अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। पूर्व राष्ट्रपति ने कहा कि इस कामयाबी के पीछे पिछली सरकारों और सभी दलों की मेहनत शामिल है।

प्रणब मुखर्जी
PTI File

पूर्व राष्‍ट्रपति ने देश की उपलब्धियों को किसी पार्टी भर का बताए जाने पर अफसोस जताते हुए पिछले 55 वर्षों की कांग्रेस शासन की आलोचना को भी गलत बताया। ‘फर्दरिंग इंडियाज प्रोमिस’ नाम से आयोजित एक लेक्चर के दौरान मुखर्जी ने कहा कि कई आर्थिक और समाजिक क्षेत्र बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं क्योंकि स्वतंत्रता के बाद भारतीयों ने मेहनत की है।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, मुखर्जी ने गुरुवार को कहा, “वित्तमंत्री ने बजट पेश करते हुए कहा था कि वर्ष 2024 तक भारत की अर्थव्यवस्था 5 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर तक पहुंच जाएगी, लेकिन यह दर्जा आसमान से उतरकर नहीं आएगा, इसके लिए मजबूत नींव मौजूद है, और उस नींव को अंग्रेजों ने नहीं, आजादी के बाद हिन्दुस्तानियों ने ही बनाया था।”

पूर्व राष्‍ट्रपति ने कांग्रेस के पिछले 55 साल की आलोचनाओं को गलत बताते हुए कहा कि जो लोग कांग्रेस के 50-55 साल के शासन की आलोचना करते हैं, वे भूल जाते हैं कि आजादी के समय भारत की क्या स्थिति थी। यदि आज भारत 5 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने जा रहा है तो यह पूर्वजों द्वारा रखी गई 1.8 ट्रिलियन डॉलर की मजबूत नींव का नतीजा है।

उन्होंने कहा कि भारत को भविष्य में 5 ट्रिलियन डॉलर अमेरिकी डॉलर की अर्थव्यवस्था बना पाने की नींव पिछली सरकारों ने रखी थी, जिनमें जवाहरलाल नेहरू, डॉ मनमोहन सिंह और पी.वी. नरसिम्हा राव की सरकारें भी शामिल थीं।बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के जरिए मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट पेश किया गया था। इस बजट में भारत को आने वाले सालों में 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने की बात कही गई थी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here