संदीप/संबित पात्रा मामला: अमित शाह से कठिन सवाल पूछने पर बीजेपी समर्थकों ने इंडिया टुडे की पत्रकार को किया ट्रॉल

0

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बीते शुक्रवार को पश्चिम बंगाल के मुद्दे पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला जमकर बोला और उन पर रथयात्रा को रोकने का आरोप लगाया था। इसी प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के द्वारा उठाए गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रेस कॉन्फ्रेंस के मुद्दे पर सवाल पूछा गया तो अमित शाह ने उसे टाल दिया था।

अमित शाह

दरअसल, प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान इंडिया टुडे की रिपोर्टर मौसामी सिंह ने अमित शाह से राहुल गांधी के द्वारा उठाए गए प्रधानमंत्री की प्रेस कॉन्फ्रेंस के मुद्दे को लेकर पूछा, राहुल का आरोप है कि प्रधानमंत्री ने पिछले साढ़े चार में कोई प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं की है। टीवी पत्रकार के इस कठिन सवाल का जवाब देने के लिए बीजेपी अध्यक्ष को काफी संघर्ष करना पड़ा और वो इस दौरान पार्टी के सबसे लोकप्रिय प्रवक्ता संबित पात्रा का नाम तक भूल गए।

पत्रकार के सवाल पर अमित शाह से घबराहट के साथ कहा, ‘संदीप जी जवाब देंगे राहुल गांधी जी का… संदीप पात्रा जी। (संदीप जी राहुल गांधी का जवाब देंगे, मेरा मतलब संदीप पात्रा जी)। लेकिन उसके बाद भी मौसामी सिंह अपने प्रश्न के साथ लगातार यह सवाल पूछती रही। इतनी ही देर में अमित शाह को पर्याप्त समय भी मिल गया और उन्होंने कहा कि “वह पार्टी की तरफ से जवाब देंगे।” बता दें कि यह वीडियो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

वहीं, कुछ दिनों बाद मौसामी सिंह ने ट्विटर पर जानकारी दी की कैसे अमित शाह से सवाल पूछने के बाद बीजेपी समर्थक उन्हें ट्रोल कर रहें है। उन्होंने अपने ट्विटर पर एक ट्वीट का स्क्रीनशॉट भी शेयर किया है। वहीं, दिल्ली भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रवक्ता तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने लिखा, ‘उसे आधिकारिक तौर पर कांग्रेस में शामिल हो जाना चाहिए।’

वहीं, एक अन्य यूजर ने लिखा, “ये बड़ी हैरानी की बात है कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को अपनी ही पार्टी के ‘बड़े’ प्रवक्ता संबित पात्रा का ठीक नाम तक नहीं मालूम। पत्रकार मौसामी सिंह के सवाल पर अमित जी ने संबित को 2 बार ‘संदीप’ कहा। प्रेस कांफ्रेंस में संबित भी मौजूद थे।”

बता दें कि बीते बुधवार को राहुल गांधी ने हैदराबाद में संवाददाता सम्मेलन करने के बाद एक ट्वीट में कहा था कि, ‘प्रिय मोदी जी, अब तो प्रचार खत्म हो चुका है, उम्मीद है कि अब आप कुछ समय अपने पार्टी टाईम जॉब प्रधानमंत्री के तौर पर बिताएंगे। आपको प्रधानमंत्री बने 1654 दिन हो गए हैं, लेकिन आपने अभी तक कोई प्रेस कांफ्रेंस नहीं की। हमने आज हैदराबाद में प्रेस कांफ्रेंस की थी, उसकी तस्वीरें देखिए। आप भी करके देखिएगा। मज़ा आता है जब लोग आपसे सीधे और तीखे सवाल पूछते हैं।’

गौरतलब है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने सत्ता में आने के पिछले करीब साढ़े 4 वर्षों के दौरान एक बार भी प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं किया है। प्रधानमंत्री के विदेश दौरों, महत्वपूर्ण घटनाक्रमों, घोषणाओं या किसी अन्य समय पर भी पीएम ने कभी पत्रकारों का सम्मेलन नहीं बुलाया है। अलबत्ता इन वर्षों में उन्होंने इक्का-दुक्का मौकों पर जरूर अखबार या टीवी चैनलों के पत्रकारों को साक्षात्कार दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here