इंडिया टुडे ने ‘एक्जिट पोल लीक’ पर दी सफाई, प्रतिद्वंद्वी अर्नब गोस्वामी और टाइम्स नाउ ने बीजेपी के लिए विनाशकारी भविष्यवाणी का किया विरोध

0

2019 के लोकसभा चुनावों के लिए किए गए इंडिया टुडे ग्रुप का एक्ज़िट पोल गलती से लीक हो गया, जो 19 मई के आखिरी चरण के मतदान के बाद दिखाए जाने थे। यह एग्जिट पोल लीक होने के बाद गुरुवार को सोशल मीडिया पर इसकी चर्चा जोरों पर रहीं, क्योंकि कई लोगों को लगा कि यह आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है। हालांकि कुछ लोगों ने ट्विटर पर चुनाव आयोग को टैग करते हुए कहा कि इनके प्रतिद्वंद्वी चैनल टाइम्स नाउ और अर्नब गोस्वामी के रिपब्लिक टीवी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें, क्योंकि एग्जिट पोल के नतीजे बीजेपी के लिए विनाशकारी थे।

इंडिया टुडे

वायरल वीडियो में, इंडिया टुडे समूह के राहुल कंवल को 19 मई की शाम को प्रसारित होने वाले बड़े एग्जिट पोल की भविष्यवाणी करते हुए देखा जा रहा है। जैसे ही उनका कैमरा उसके पीछे एक कंप्यूटर स्क्रीन की ओर बढ़ता है तो उस कंप्यूटर के स्क्रीन पर 19 मई को प्रसारित होने वाला डेटा दिखाई दे रहा है। वायरल वीडियो में इंडिया टुडे के इस एक्जिट पोल के मुताबिक, केन्द्र की सत्ताधारी बीजेपी की अगुवाई वाले एनडीए के हिस्से में मात्र 177 सीटें ही दिखाई गई हैं। दूसरी ओर, यूपीए को 141 सीटें मिलने की संभावना है जबकि क्षेत्रीय दलों को 224 सीटें मिलने की संभावना जताई है।

हालांकि, लीक हुए इस वीडियो को इंडिया टुडे समूह कभी फर्जी तो कभी मात्र डमी बता रहा है। लेकिन इस वीडियो को लेकर सोशल मीडिया यूजर्स अपनी नराजगी जता रहें है। वहीं, दूसरी ओर वायरल इस एग्जिट पोल को लेकर कुछ लोगों के होश उड़ रहे हैं। उनका सवाल है कि अगर फर्जी हो या डमी हो तो भी इसमें एनडीए के हिस्से में इतनी कम सीटें क्यों दिखाई गई हैं।

कई सोशल मीडिया यूजर्स चैनल के प्रधान संपादक राहुल शिवशंकर से पूछ रहें है कि, क्या यह एग्जिट पोल सच है? इन सब के बीच, इंडिया टुडे ग्रुप के वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने इस एक्जिट पोल को फर्जी करार देकर इसे न फैलाने की अपील की।

इसी बीच, विवादास्पद एंकर और अंग्रेजी न्यूज चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ की स्थापना करने वाले अर्नब गोस्वामी ने बिना नाम लिए इंडिया टुडे पर तीखा हमला बोला। गोस्वामी ने इसे लुटियंस का एग्जिट पोल बताते हुए कहा कि, एक्जिट पोल से पहले और यहां तक ​​कि 59 लोकसभा सीटों पर मतदान होना बाकी है और इससे पहले ही लुटियंस ने परिणाम घोषित कर दिया है। क्या ये फर्जी मतदान, फर्जी चैनलों पर फर्जी खबरें लगाए गए हैं?

व्यापक आलोचना के कारण इंडिया टुडे समूह ने एक स्पष्टीकरण जारी किया जिसमें कहा गया कि वीडियो में मौजूद एग्ज़िट पोल डेटा डमी डेटा है। असली एग्ज़िट पोल डेटा इंडिया टुडे और आज तक पर 19 मई को शाम 4 बजे दिखाया जाएंगा।

बता दें कि, इस समय देश में 17वीं लोकसभा के गठन के लिए मतदान की प्रक्रिया जोर-शोर से चल रही है। कुल सात चरणों में होने वाली मतदान प्रक्रिया के 6 चरण पूरे हो चुके हैं, जबकि सांतवे चरण का मतदान रविवार (19 मई) को होगा। इन चुनाव के नतीजें 23 कई को घोषित किए जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here