गणतंत्र दिवस परेड में भारत ने संयुक्त अरब अमीरात की सैन्य टीम को नहीं दी अनुमति

0

सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए संयुक्त अरब अमीरात के उस प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया है जिसमें उसने नयी दिल्ली में गणतंत्र दिवस समारोह की परेड में अपनी छतरी सेना की एक टीम भेजने की अनुमति मांगी थी ।

रक्षा मंत्रालय ने संयुक्त अरब अमीरात से परेड के लिए छतरी सेना की टीम की जगह पैदल टुकड़ी भेजने का आग्रह किया है । इस बार के गणतंत्र दिवस समारोह में अबूधाबी के शहजादे शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान मुख्य अतिथि हैं ।

सरकार के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘पिछले साल फ्रांस ने अपने सैनिकों का दस्ता भेजा था जिसके बाद हमने इसे एक परंपरा बनाने का फैसला किया है । इसलिए, हमने संयुक्त अरब अमीरात से एक सैन्यदल आमंत्रित किया, लेकिन वे छतरी सेना की एक टीम भेजना चाहते थे ।’

भाषा की खबर के अनुसार, उन्होंने कहा, ‘‘रक्षा मंत्रालय सुरक्षा चिंताओं की वजह से इसके लिए तैयार नहीं था क्योंकि आयोजन में राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और अनेक अति विशिष्ट व्यक्तियों के शामिल होने के साथ राजपथ असल में उच्च सुरक्षा क्षेत्र में तब्दील रहता है ।

हो सकता है कि उस समय मौसम भी अनुकूल न हों ।’ यह दूसरा मौका होगा कोई विदेशी दस्ता 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होगा ।

पिछले साल फ्रांसीसी राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद गणतंत्र दिवस परेड के मुख्य अतिथि थे । गत वर्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संयुक्त अरब अमीरात यात्रा के दौरान द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए कई कदम उठाए गए थे ।

अबूधाबी के शहजादे को गणतंत्र दिवस परेड समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किए जाने को भी खाड़ी देश के साथ संबंध मजबूत करने की दिशा में एक महतवपूर्ण कदम के रूप में देखा जा रहा है। अबूधाबी के शहजादे संयुक्त अरब अमीरात के सशस्त्र बलों के उप सर्वोच्च कमांडर भी हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here