भारत ने श्रीलंका को पारी और 171 रन से हराकर 3-0 से अपने नाम किया सीरीज

0

रविचंद्रन अश्विन और मोहम्मद शमी की धारदार गेंदबाजी से भारत ने श्रीलंका को तीसरे और अंतिम टेस्ट में तीसरे ही दिन पारी और 171 रन से हराकर तीन मैचों की सीरीज में 3-0 से क्लीनस्वीप किया। भारत ने विदेशी सरजमीं पर पहली बार तीन या इससे अधिक टेस्ट मैचों की श्रृंखला में क्लीनस्वीप किया है। इससे पहले भारत ने विदेश में सिर्फ एक बार 1967-68 में न्यूजीलैंड की सरजमीं पर किसी श्रृंखला में तीन टेस्ट जीते थे और तब मंसूर अली खान पटौदी की अगुआई वाली भारतीय टीम ने चार मैचों की श्रृंखला 3-1 से अपने नाम की थी।

(AP)

पहली पारी में 135 रन पर सिमटने के कारण फालोआन खेलने उतरी श्रीलंका की टीम दूसरी पारी में भी भारतीय गेंदबाजों की चुनौती का सामना करने में नाकाम रही और अश्विन (68 रन पर चार विकेट) तथा शमी (32 रन पर तीन विकेट) की उम्दा गेंदबाजी के सामने 74 . 3 ओवर में 181 रन पर ढेर हो गई। उमेश यादव ने 21 रन देकर दो जबकि कुलदीप यादव ने 56 रन देकर एक विकेट चटकाया। भारत ने पहली पारी में 487 रन बनाए थे।

श्रीलंका का कोई बल्लेबाज टिककर नहीं खेल पाया। टीम की ओर से विकेटकीपर बल्लेबाज निरोशन डिकवेला ने सर्वाधिक 41 रन बनाए जबकि कप्तान दिनेश चांदीमल ने 36 और एंजेलो मैथ्यूज ने 35 रन की पारी खेली। भारत ने गाले में पहला टेस्ट 304 रन और कोलंबो मे दूसरा टेस्ट पारी और 54 रन से जीता था।

श्रीलंका ने दिन की शुरुआत एक विकेट पर 19 रन से की। सुबह के सत्र में तेज गेंदबाज शमी ने तूफानी गेंदबाजी करते हुए दो जबकि अश्विन ने एक विकेट चटकाया। अश्विन ने दिन के तीसरे ही ओवर में सलामी बल्लेबाज दिमुथ करुणारत्ने (16) को पवेलियन भेजा।

भारतीय आफ स्पिनर की अतिरिक्त उछाल लेती गेंद करुणारत्ने के ग्लव्स को छूकर स्लिप में खड़े अजिंक्य रहाणे के पास गई जिन्होंने कैच लपकने में कोई गलती नहीं की। शमी ने इसके बाद पारी के 21वें ओवर में रात्रि प्रहरी मलिंदा पुष्पकुमार (01) को विकेटकीपर रिद्धिमान साहा के हाथों कैच कराया और फिर अपने अगले ओवर में तेजी से अंदर की ओर स्विंग होती गेंद पर कुसाल मेंडिस (12) को भी पगबाधा आउट किया। सुबह के सत्र में मेजबान टीम ने शुरुआत में 13 रन पर तीन विकेट गंवाए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here