गणतंत्र दिवस पर टीम इंडिया ने देश को दिया एकतरफा जीत का तोहफा: न्यूजीलैंड को 90 रन से हराया, कुलदीप यादव ने लिए चार विकेट

0

70वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर शनिवार (26 जनवरी) को टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड पर एकतरफा जीत दर्ज कर भारतीय प्रशंसकों को शानदार तोहफा दिया है। दूसरा मैच माउंट माउनगेई में खेला गया, जिसमें भारत ने मेजबान टीम को 90 रनों से हरा दिया। बल्लेबाजों के कमाल के बाद गेंदबाजों के धमाल से भारत ने शनिवार को दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में न्यूजीलैंड को 90 रन से हराकर पांच मैचों की श्रृंखला में 2-0 की बढ़त बना ली।

@BCCI

भारत के 325 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए न्यूजीलैंड की टीम कुलदीप यादव (45 रन पर चार विकेट), भुवनेश्वर कुमार (42 रन पर दो विकेट) और युजवेंद्र चहल (52 रन पर दो विकेट) की उम्दा गेंदबाजी के सामने 40 . 2 ओवर में 234 रन पर ढेर हो गई। केदार जाधव (35 रन पर एक विकेट) और मोहम्मद शमी (43 रन पर एक विकेट) ने भी एक-एक विकेट चटकाया।

न्यूजीलैंड ने नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए और टीम कभी लक्ष्य हासिल करने की स्थिति में नहीं दिखी। टीम के शीर्ष छह में शामिल सभी बल्लेबाज दोहरे अंक में पहुंचे लेकिन कोई बड़ी पारी नहीं खेल पाया। आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे डग ब्रेसवेल ने सर्वाधिक 57 रन बनाए।

भारत ने न्यूजीलैंड को 325 रनों का दिया लक्ष्य

इससे पहले भारत ने सलामी बल्लेबाजों रोहित शर्मा (87) और शिखर धवन (66) के अर्धशतक तथा दोनों के बीच पहले विकेट की 154 रन की साझेदारी से चार विकेट पर 324 रन बनाए। कप्तान विराट कोहली (43) और अंबाती रायुडू (47) ने भी उम्दा पारी खेली। महेंद्र सिंह धोनी (33 गेंद में नाबाद 48, पांच चौके और एक छक्का) और केदार जाधव (10 गेंद में नाबाद 22, तीन चौके और एक छक्का) ने पांचवें विकेट के लिए 4.2 ओवर में 53 रन की अटूट साझेदारी करके भारत का स्कोर 300 रन के पार पहुंचाया।

इन दोनों की पारियों की बदौलत भारत ने अंतिम पांच ओवर में 57 रन बटोरे। न्यूजीलैंड के लिए तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट (61 रन पर दो विकेट) और लोकी फर्ग्युसन (81 रन पर दो विकेट) सबसे सफल गेंदबाज रहे। भारत ने नेपियर में पहला वनडे आठ विकेट से जीता था। श्रृंखला का तीसरा मैच इसी मैदान पर 28 जनवरी को खेला जाएगा।

मेहमान टीम करती रही जद्दोजहद

लक्ष्य का पीछा करने उतरे न्यूजीलैंड की शुरुआत खराब रही और उसने पांचवें ओवर में ही मार्टिन गुप्टिल (15) का विकेट गंवा दिया जिन्होंने भुवनेश्वर की गेंद पर थर्ड मैन पर चहल को कैच थमाया। गुप्टिल इससे पहले 12 रन के स्कोर पर भाग्यशाली रहे थे तब भुवनेश्वर की गेंद पर विकेटकीपर धोनी ने उनका कैच टपका दिया था।

कोलिन मुनरो ने भुवनेश्वर पर पारी का पहला छक्का जड़ा। कप्तान केन विलियमसन (20) ने शमी पर लगातार दो छक्के और चौका लगाया लेकिन इसी ओवर में गेंद को विकेटों पर खेल गए। सलामी बल्लेबाज मुनरो 31 रन बनाने के बाद चहल की सीधी गेंद को रिवर्स स्वीप करने की कोशिश में पगबाधा हुए। रोस टेलर (22) और टाम लैथम (34) ने 17वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन तक पहुंचाया। टेलर को हालांकि जाधव के अगले ओवर में धोनी ने शानदार तरीके से स्टंप किया।

कुलदीप ने अपने तीसरे ही ओवर में लैथम को पगबाधा करके न्यूजीलैंड का स्कोर पांच विकेट पर 136 रन किया।
कुलदीप ने कोलिन डि ग्रैंडहोम (03) को रायुडू के हाथों कैच कराके न्यूजीलैंड को छठा झटका दिया और फिर हेनरी निकोल्स (28) और ईश सोढ़ी (00) की पारियों का भी अंत किया। ब्रेसवेल ने इसके बाद आक्रामक तेवर दिखाए। उन्होंने कुलदीप पर एक जबकि चहल पर दो छक्के मारे। उन्होंने कुलदीप की गेंद पर एक रन के साथ 35 गेंद में अर्धशतक पूरा किया।

ब्रेसवेल हालांकि भुवनेश्वर की गेंद को उठाकर मारने की कोशिश में लांग आन पर धवन को कैच दे बैठे। उन्होंने 46 गेंद की पारी में पांच चौके और तीन छक्के मारे। बोल्ट ने भुवनेश्वर की लगातार गेंदों पर चौका और छक्का मारा लेकिन फर्ग्युसन अगले ओवर में चहल की गेंद को लांग आन पर विजय शंकर के हाथों में खेल गए जिससे भारत ने जीत दर्ज की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here