भारत-इजराइल की बढ़ती दोस्ती ने बढ़ाई पाक की बेचैनी, दोनों देशों को बताया मुस्लिम विरोधी

0

भारत और इजराइल के बीच बढ़ती घनिष्ठता से पाकिस्तान परेशान हो गया है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा मोहम्मद आसिफ का कहना है कि दोनों देशों मुस्लिम विरोधी हैं और दोनों का मकसद एक ही है। इसके गठजोड़ के बावजूद पाकिस्तान अपनी हिफाजत करने में सक्षम है।

Photo: @narendramodi

न्यूज एजेंसी वार्ता के मुताबिक ख्वाजा आसिफ ने पाकिस्तान के एक टेलीविजन चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा भारत और इजराइल के बीच गठजोड़ के बावजूद हम अपनी रक्षा करने में सक्षम है। दोनों देशों के बीच गहरी मित्रता पर निशाना साधते हुए पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने कहा कि इजराइल और भारत का मकसद एक ही है।

इजराइल और भारत दोनों को मुस्लिमों का दमन करने वाला बताते हुए ख्वाजा आसिफ ने कहा इजराइल उस बड़े क्षेत्र पर अपना कब्जा जमाने के प्रयासों में जुटा हुआ है जो मुस्लिमों का है। वहीं दूसरी तरफ भारत भी कश्मीर में मुस्लिमों की जमीन कब्जा रहा है। इससे साफ है कि दोनों देशों का उद्देश्य एक जैसा ही है।

पाकिस्तान के इजराइल को मान्यता नहीं देने का जिक्र करते हुए ख्वाजा आसिफ ने कहा कि भारत और इजराइल का यह गठजोड़ इस्लाम विरोध की वजह से है। उन्होंने कहा पाकिस्तान के फिलिस्तीनी के लोगों के साथ भावनात्मक रिश्ते हैं, जबकि कश्मीर का मसला पाकिस्तान के अस्तित्व से जुड़ा हुआ है।

वार्ता के अनुसार विदेश मंत्री ने कहा कि इजराइल और भारत के बीच गठजोड़ को लेकर चिंता करने की जरूरत नहीं है। इसके बावजूद पाकिस्तान अपनी रक्षा कर सकता है। देश और सरकार को दोनों देशों के बीच गठजोड़ से घबराने की कतई आवश्यकता नहीं है। हमारी सेना पूरी तरह से आतंकवाद के खिलाफ लड़ रही है और पाकिस्तान की रक्षात्मक क्षमता भी बढ़ी है।

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय प्रवक्ता भी कह चुके हैं भारत और इजरायल के बीच बढ़ते गठजोड़ पर इस्लामाबाद पूरी तरह निगाह रखे हुए है। गौरतलब है कि इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू रविवार को छह दिन के दौरे पर भारत आए हैं। भारत और इजरायल के बीच राजनयिक संबंधों की 25वीं वर्षगांठ के मौके पर रविवार को आए नेतन्याहू की नई दिल्ली के पालम वायु सैनिक हवाई अड्डे पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रोटोकॉल तोड़कर हवाई अड्डे पर अगवानी की थी।

वहीं सोमवार को दोनों नेताओं की शिखर बैठक में नौ समझौतों पर हस्ताक्षर किये गये। जबकि आज दोनों नेताओं ने गुजरात में अहमदाबाद की सड़कों पर रोड शो भी किया। नेतन्याहू यहां सबसे पहले साबरमती आश्रम गए, जहां उन्होंने अपनी पत्नी के साथ बापू की तस्वीर पर सूत की माला चढ़ाई। साथ ही वहां रखा चरखा भी चलाया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here