बलूचिस्तान के मुद्दे पर भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ अपनाया आक्रामक रूख

0

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद यूएनएचआरसी में बलूचिस्तान के मुद्दे पर पाकिस्तान के खिलाफ आक्रामक रूख अपनाते हुए भारत ने कहा कि पाकिस्तान ऐसा देश है जो अपने ही लोगों के खिलाफ आतंकवाद फैलाता है और बलूचिस्तान के लोगों का दुख-दर्द इसकी पूरी दास्तान बयान करता है।

जवाब देने के अपने हक का इस्तेमाल करते हुए भारत ने यूएनएचआसी में पिछले तीन दिनों में दूसरी बार बलूचिस्तान का मुद्दा उठाया । भारत ने कहा कि आतंकवाद के वैश्विक गढ़ के तौर पर अपनी पहचान बना चुके देश की बदकिस्मती यह है कि वह मानवाधिकारों की बात कर रहा है ।

Also Read:  सभी क्रिकेट संघों को करना होगा लोढ़ा समिति की सिफारिशों का पालन: न्यायालय

भाषा की खबर के अनुसार, भारत ने कहा, ‘‘आतंकवाद को पालने-पोसने वाली, इसे बढ़ावा देने वाली और इसे अमल में ला रही सरकार का यह आला दर्जे का पाखंड ही है कि वह मानवाधिकार जैसे विषयों में घुसने की कोशिश कर रही है ।’’

Also Read:  एचआईवी एड्स से मिजोरम में 1990 से लेकर अब तक 1,300 लोगों की मौत

अपने जवाब में भारत ने कहा कि पिछले दो दशकों में दुनिया के सबसे ज्यादा वांछित आतंकवादियों ने पाकिस्तान में शरण ली है । बदकिस्मती से यह परंपरा आज भी जारी है और यह तब नहीं चौंकाता जब वहां की सरकार आतंकवाद का इस्तेमाल अपने देश के नीतिगत उपकरण के तौर पर करती है ।

Also Read:  नवाजुद्दीन सिद्दीकी को प्रवर्तन निदेशालय ने दूसरी बार भेजा समन, फ्राड कम्पनी का ऐड करने की वजह से होगी पेशी

भारत ने कहा कि भारतीय राज्य जम्मू-कश्मीर में मौजूदा अशांति की जड़ें पुलिस कार्रवाई में हिज्बुल मुजाहिदीन, जिसके तार सीमा पार से जुड़े हैं, के स्वयंभू आतंकवादी कमांडर बुरहान वानी की मौत से जुड़ी हुई हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here