शासन में सुधार मेरी पहली प्राथमिकता है, मोदी

0

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिका के लगभग 50 शीर्ष कॉर्पोरेट दिग्गजों के साथ बैठक में भारत में विदेशी निवेश लाने का आह्वान करते हुए आर्थिक सुधार जारी रखने और जल्द से जल्द फैसला लेने की प्रक्रिया को अपनी प्राथमिकता बताई।

मोदी ने फॉच्र्युन 500 कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों के साथ गुरुवार को हुई बातचीत के दौरान कहा, “पूरी दुनिया में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) में गिरावट आई है। लेकिन भारत में यह 40 प्रतिशत बढ़ा है। यह भारतीय अर्थव्यवस्था में विश्वास को दर्शाता है।”

मोदी ने मैनहट्टन के वाल्डोर्फ टावर्स होटल में इन अधिकारियों के साथ भोज से पहले कहा, “शासन में सुधार मेरी पहली प्राथमिकता है। हम प्रक्रियाओं को आसान बनाने, जल्द फैसला लेने, पारदर्शिता और जवाबदेही में विश्वास रखते हैं।”

इससे पहले मोदी ने दो गोलमेज वार्ताओं में हिस्सा लिया, जिसमें एक वित्तीय क्षेत्र और दूसरी ‘मीडिया, प्रौद्योगिकी और संचार-भारत के विकास’ पर थी।

उन्होंने अमेरिका-भारत कारोबार परिषद के अध्यक्ष अजय बंगा, उद्योगपति व न्यूयॉर्क के पूर्व महापौर माइकल ब्लूमबर्ग, लॉकहीड मार्टिन की प्रमुख मैरीलीन ए.ह्यूसन और एकॉम के मुख्य कार्यकारी अधिकारी माइक बर्क के साथ व्यक्तिगत रूप से मुलाकात भी की।

LEAVE A REPLY