फर्जी ख़बर दिखाने के लिए इमाम बुखारी ने रिपब्लिक टीवी को मानहानि नोटिस भेजा

0
Follow us on Google News

कुछ दिनों पहले वरिष्ठ पत्रकार अर्नब गोस्वामी के चैनल रिपब्लिक टीवी ने दिल्ली में जामा मस्जिद के बिजली के भुगतान को लेकर कथिततौर पर एक फेक न्यूज़ चलाई थी। जिसको लेकर अब जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने मस्जिद पर गलत रिपोर्टिग को लेकर रिपब्लिक टीवी के संपादक अरनब गोस्वामी को मानहानि नोटिस भेजा है।

अपने कानूनी नोटिस में बुखारी ने चैनल से ऑन-एयर माफी की मांग की और 15 दिनों के भीतर रिपब्लिक टीवी के स्वामित्व वाली वेबसाइट पर मौजूद वीडियो को हटाने की मांग की है। इमाम बुखारी ने कहा है कि अगर अरनब गोस्वामी ऐसा नहीं करते हैं तो वे चैनल के खिलाफ मानहानि का मुकदमा ठोकेंगे।

गौरतलब है कि, रिपब्लिक टीवी ने 30 अगस्त को अपने कार्यक्रम में दावा किया गया था कि जामा मस्जिद पर करोड़ों के बिल का भुगतान बकाया है जिसके चलते बिजली विभाग ने मस्जिद की बिजली काट दी है।

इतना ही नहीं चैनल ने इस ख़बर को बार-बार दिखाया था। चैनल ने अपने ट्वीटर अकाउंट पर लिखा था कि, इमाम बुखारी के पास शानदार कार खरीदने के लिए पैसे हैं, लेकिन बिजली के बिलों का भुगतान करने के लिए नहीं।

कारवां डेली से बात करते हुए इमाम बुखारी ने कहा कि ये स्टोरी गलत, आधारहीन, मानहानि पहुंचाने वाला है और इसे जामा मस्जिद और उन्हें बदनाम करने के लिए दिखाया गया है, क्योंकि जामा मस्जिद की बिजली कभी काटी ही नहीं गई थी।

इमाम बुखारी ने कहा, मेरे परिचितों ने मुझे बताया कि रिपब्लिक टीवी पर मेरे और जामा मस्जिद के बारे में एक स्टोरी चलाई जा रही है, मैं इसमें कुछ साजिश देखता हूं क्योंकि उसी दिन दिखाया जा रहा था जिस दिन बाबा राम रहीम के भक्तों द्वारा उसे सजा सुनाने के बाद हरियाणा में हिंसा की गई थी।

साथ ही इमाम बुखारी ने कहा कि पत्रकारिता और अपने प्रोफेशन का धर्म निभाते हुए भी उन्हें ये स्टोरी प्रसारित करने से पहले मेरा पक्ष पूछना चाहिए था। इमाम बुखारी ने कहा, ये चैनल और इसका संपादक मुसलमानों की बुराई करने के लिए जाना जाता है और इसका झुकाव भगवा संस्थाओं की ओर है।

इसमें कोई शक नहीं है कि ये स्टोरी और ट्वीट मेरे और मुस्लिम समुदाय की प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचाने के लिए दिखाई गई थी। नोटिस में ये भी कहा गया है कि अगर अरनब गोस्वामी माफी नहीं मांगते हैं तो इनके खिलाफ आपराधिक और सिविल डिफेमेशन का मुकदमा चलाया जाएगा।

बता दें कि, वरिष्ठ पत्रकार अर्नब गोस्वामी ने एनडीए के राज्यसभा सांसद राजीव चंद्रशेखर और बीजेपी समर्थक मोहनदास की मदद से 6 मई 2017 को इंग्लिश चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ को लॉन्च किया था।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here