ICSE ISC परीक्षा और परिणाम 2020: सरकार का सुप्रीम कोर्ट में बड़ा ऐलान, कहा- इंडियन सार्टिफिकेट ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन रद्द करेगा ICSE ISC की परीक्षाएं, परिणाम cisce.org पर किए जाएंगे घोषित

0

ICSE ISC परीक्षा और परिणाम 2020: एक बड़ी घोषणा करते हुए भारत सरकार ने गुरुवार (25 जून) को सुप्रीम कोर्ट को बताया कि इंडियन सार्टिफिकेट ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (ICSE) कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी के कारण ICSE ISC परीक्षा को रद्द कर देगा। इसके परिणाम इसकी आधिकारिक वेबसाइट cisce.org पर घोषित किए जाएंगे। सॉलिसिटर जनरल ने अदालत को बताया कि आईसीएसई आंतरिक मूल्यांकन प्रणाली का भी पालन करेगा। हालांकि, ICSE ने बाद में परीक्षा देने का विकल्प नहीं रखा है।

सरकार

सुप्रीम कोर्ट में गुरुवार को सुनवाई के दौरान सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने ICSE बोर्ड परीक्षाओं के रद्द होने की जानकारी दी। तुषार मेहता के मुताबिक, कोरोना वायरस के चलते परीक्षाएं अब नहीं करवाई जाएंगी। रद्द हुई परीक्षाओं की जानकारी नोटिफिकेशन के जरिए जल्द ही छात्रों को दे दी जाएगी।

इससे पहले, ICSE ने कहा था कि वह शेष परीक्षाओं पर CBSE द्वारा लिए गए निर्णय का पालन करेगा। बता दें कि, एक दिन पहले महाराष्ट्र सरकार ने बॉम्बे हाई कोर्ट को बताया था कि वह राज्य में बिगड़ती कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी के मद्देनजर ICSE परीक्षाओं को आगे बढ़ने की अनुमति नहीं दे सकता है।

इससे पहले, सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने शीर्ष अदालत से कहा था कि स्थिति अनुकूल होने पर सीबीएसई परीक्षा आयोजित कर सकता है। मेहता ने सुप्रीम कोर्ट को यह भी बताया कि एक योजना बनाई गई थी जहां कक्षा 12 के छात्रों का मूल्यांकन अंतिम तीन परीक्षाओं के आधार पर किया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट एक बार फिर 25 जून को मामले की सुनवाई करेगा।

इससे पहले, आईसीएसई ने कहा था कि आईसीएसई और आईएससी (इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट) परीक्षाओं में बैठने वाले छात्र अपने राज्यों, शहरों और जिलों में ऐसा कर सकते हैं। ICSE के शेष पेपर 2 जुलाई से 12 जुलाई के बीच आयोजित किए जाने वाले थे, जबकि ISC परीक्षा 2020 के शेष पेपर 1 जुलाई से 14 जुलाई के बीच आयोजित किए जाने थे।

दरअसल, महाराष्ट्र राज्य में कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते हुए मामले देखकर बॉम्बे हाई कोर्ट ने पिछले हफ्ते राज्य सरकार को निर्देश दिए थे कि वो स्पष्ट करें कि राज्य में ICSE बोर्ड को 10वीं और 12वीं की पेंडिंग परीक्षाएं आयोजित करने के लिए अनुमति देते हैं या नहीं। कोर्ट ने राज्य सरकार से परीक्षाओं को लेकर उनका स्टैंड क्लियर करने के लिए कहा था। इसपर सरकार ने कोर्ट में अपना पक्ष रखते हुए कहा था कि इंडियन सर्टिफिकेट ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (ICSE) बोर्ड को COVID-19 स्थिति के मद्देनजर जुलाई में 10वीं और 12वीं क्लास की पेंडिंग परीक्षाएं आयोजित करने की अनुमति नहीं दी जा सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here