भारत-पाकिस्तान के महामुकाबला से पहले इमरान खान ने पाक टीम को दिए खास टिप्स

0

क्रिकेट इतिहास के दो सबसे बड़े चिर-प्रतिद्वंद्वियों भारत और पाकिस्तान के बीच सुपर संडे को होने वाले आईसीसी विश्व कप के महामुकाबले में जबरदस्त भिड़ंत की उम्मीद है। भारत और पाकिस्तान के बीच ओल्ड ट्रैफर्ड में होने वाले इस मुकाबले का क्रिकेट प्रशंसकों के साथ आईसीसी को भी बड़ी बेसब्री से इन्तजार है जिसके टिकट महीनों पहले बिक गए थे और इस मैच को लेकर सभी की सांसें थमी हुई हैं।

रविवार को यह मुकाबला शुरू होते ही स्टेडियम हॉउसफुल हो चुका होगा, करोड़ों निगाहें टीवी स्क्रीन पर चिपक चुकी होंगी और भारत और पाकिस्तान की गलियों में सन्नाटा पसर चुका होगा। इस बीच मैच से चंद घंटों पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपनी टीम को खास टिप्स दिए हैं। जीत का मंत्र देते हुए इमरान ने लिखा है कि मैच में मानसिक तनाव सबसे ज्यादा होगा और पाकिस्तानी टीम को हार का डर निकालकर उसपर काबू पाना होगा।

इमरान खान ने ट्वीट करते हुए कहा कि जब मैंने अपने करियर की शुरुआत की थी तब मुझे लगता था कि किसी भी टीम की जीत में 70 फीसदी प्रतिभा और 30 फीसदी मानसिक शक्ति का योगदान होता है। जब मैंने क्रिकेट छोड़ा तो मुझे लगा कि इसका अनुपात 50-50 का है, लेकिन अब मैं अपने दोस्त गावस्कर से सहमत हूं। आज के समय में किसी भी टीम की जीत 60 प्रतिशत मानसिक शक्ति और 40 फीसदी प्रतिभा से तय होती है। उन्होंने आगे लिखा है कि भारत पाक के मैच में दिमाग का रोल 60 प्रतिशत से भी ज्यादा रहेगा।

पाक पीएम ने अपनी टीम के लिए एक के बाद एक कुल 5 ट्वीट किए है। उन्होंने आगे कहा कि जैसे-जैसे मैच आगे बढ़ता जाएगा वैसे-वैसे दोनों ही टीमें मानसिक दबाव में आ जाएंगी। ऐसे में जीत उसी टीम की होगी जो मानसिक रूप से अपने आपको जीत के लिए तैयार करके रखेगा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान टीम भाग्यशाली है कि उनके पास सरफराज जैसा कप्तान है। आज उन्हें अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना है।

उन्होंने कहा कि हारने की सभी आशंकाओं को दिमाग से निकाल देना चाहिए, क्योंकि दिमाग एक समय में एक ही विचार को अपने जेहन में इकट्ठा करता है। हारने का डर एक नकारात्मक और रक्षात्मक रणनीति की ओर ले जाता है। जिसके बाद विरोधियों द्वारा की जा रही गलतियों से भी ध्यान हट जाता है। ऐसे में जरूरी है कि मैच में हर समय जीतने के बारे में सोचें।

इमरान ने अपने पांचवें और आखिरी ट्वीट में कहा कि भारत भले ही विश्व कप जीतने के प्रबल दावेदार हो लेकिन हारने के डर को अपने दिमाग से निकाल दें। बस अपना सर्वश्रेष्ठ दें और आखिरी गेंद तक लड़ें। इसके बाद जो भी हो, उसे सच्चे खिलाड़ियों की तरह स्वीकार करें। देश की दुआएं आप सभी के साथ हैं। इमरान की मानें जो आज के मैच में दोनों टीमों पर बहुत दबाव होगा और जो उससे पार पा लेगा सफलता उसे मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here