ICC ने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए क्रिकेटर जोगिंदर शर्मा को किया सलाम

0

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने शनिवार को 2007 में टी20 वर्ल्ड कप में भारत की जीत के हीरो रहे जोगिंदर शर्मा को कोरोना वायरस के दौरान अपनी ड्यूटी करने पर सलाम किया है।

जोगिंदर शर्मा

बता दें कि, 2007 टी-20 विश्व कप विजेता टीम के सदस्य जोगिंदर शर्मा हरियाणा पुलिस में डीएसपी हैं। जोगिंदर शर्मा भारत में 21 दिन के लॉकडाउन के दौरान सड़कों पर उतरकर लोगों से अपने घरों में रहने का आग्रह कर रहे हैं। आईसीसी ने उनकी तस्वीर शेयर कर जमकर तारीफ की है और जोगिंदर को असली दुनिया का हीरो बताया है।

आईसीसी ने जोगिंदर की कोलाज फोटो पोस्ट करते हुए लिखा, ”2007: टी-20 वर्ल्ड कप के हीरो। 2020: दुनिया के असली हीरो। एक पुलिसकर्मी के रूप में अपने क्रिकेट के बाद के करियर में, भारत के जोगिंदर शर्मा वैश्विक स्वास्थ्य संकट के बीच अपना काम कर रहे हैं।”

इस पोस्ट को सोशल मीडिया यूजर्स खूब पसंद कर रहे है, लोग जोगिंदर की जमकर तारीफ कर रहे हैं। लोग उनको रियल हीरो बता रहे हैं। जोगिंदर शर्मा ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंड पर एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें वो लोगों से घर में ही रहने का आग्रह कर रहे हैं।

बता दें कि, 2007 टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल मुकाबले का आखिरी ओवर जोगिंदर शर्मा ने ही डाला था। ये मुकाबला पाकिस्तान के खिलाफ खेला गया था। पाकिस्तान को आखिरी ओवर में 13 रनों की दरकार थी और क्रीज पर मिसबाह उल हक और मोहम्मद आसिफ मौजूद थे। कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी के सामने आखिरी ओवर कराने के लिए हरभजन सिंह और जोगिंदर शर्मा के रूप में दो ऑप्शन थे। धौनी ने गेंद जोगिंदर को पकड़ाई और पूरा क्रिकेट जगत सन्न रह गया था। पहली गेंद जोगिंदर ने वाइड फेंक दी। पाक को अब 6 गेंद पर 12 रनों की दरकार थी।

लेकिन दूसरी गेंद पर मिसबाह ने छक्का जड़ डाला। यहां से लगा कि मैच टीम इंडिया की पहुंच से बाहर गया। लेकिन इसके बाद जो कुछ भी हुआ वो इतिहास बन गया। जोगिंदर शर्मा ने 2007 टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल मैच में पाकिस्तान के खिलाफ आखिरी ओवर फेंका था और मिसबाह उल हक को श्रीसंत के हाथों कैच कराकर भारत को टी20 वर्ल्ड चैंपियन बनाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here