चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल: भारत ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का लिया फैसला

0

आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017 के फाइनल मुकाबले में भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ टॉस जीत लिया है। टॉस जीतकर भारतीय टीम ने गेंदबाजी का फैसला लिया है। कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर गेंदबाजी करने का फैसला किया है और पाकिस्तान की टीम को पहले बल्लेबाजी को आमंत्रित किया है।

फोटो: BCCI

बता दें कि आज(18 जून) दुनिया के दो सबसे बड़े प्रतिद्वंद्वी भारत-पाकिस्तान ओवल स्टेडियम में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में आमने-सामने हैं। मैच से पहले टीवी विज्ञापन व टिकट के दाम के साथ लंदन का तापमान भी बढ़ गया है। दस साल पहले 2007 में भारत-पाकिस्तान किसी आइसीसी टूर्नामेंट के फाइनल में पहली बार भिड़े थे।

जोहानिसबर्ग में हुए टी-20 विश्व कप फाइनल में महेंद्र सिंह धौनी की कप्तानी वाली टीम इंडिया ने मिस्बाह उल हक की पाकिस्तानी टीम को आखिरी ओवर में पांच रन से हराकर खिताब जीता था। इस बार भी विराट कोहली की टीम का पलड़ा भारी है, क्योंकि वह विश्व की शीर्ष-2 टीमों में है और उसका हालिया प्रदर्शन शानदार रहा है।

वहीं, सातवीं रैंक वाली सरफराज अहमद की टीम ने चैंपियंस ट्रॉफी में अपने प्रदर्शन से सभी को हैरान कर दिया है। टीम इंडिया उन्हें हल्के में नहीं लेगी और पाक को हराकर चैंपियंस ट्रॉफी बरकरार रखना चाहेगी। कुछ हफ्ते पहले शायद ही किसी ने सोचा होगा कि चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में चिर प्रतिद्धंद्धी भारत और पाकिस्तान की टीमें आमने-सामने खड़ी होंगी।

भारत के सामने 10 साल पुराना इतिहास दोहराने का मौका होगा। 2007 में टीम ने महेंद्र सिंह धौनी की कमान में पाकिस्तान को आखिरी बार आईसीसी टी-20 विश्व कप के फाइनल में शिकस्त दी थी। अब विराट के सामने चुनौती है कि वह इस स्वर्णिम इतिहास को दोहराए।

भारतीय टीम की सबसे बड़ी ताकत उसकी बल्लेबाजी है। कप्तान विराट कोहली के अलावा शिखर धवन, रोहित शर्मा, और युवराज सिंह शानदार फॉर्म में चल रहे हैं। कप्तान महेंद्र सिंह धौनी और केदार जाधव ने भी अहम मौकों पर बढ़िया बल्लेबाजी कर टीम के लिए रन बनाए हैं। इन सभी बल्लेबाजों पर पाक की शानदार गेंदबाजी के खिलाफ अच्छी बल्लेबाजी का दारोमदार होगा।

गत चैंपियन भारत के गेंदबाजों के सामने भी पाक बल्लेबाजों पर लगाम लगाने की चुनौती होगी। भुवनेश्वर और जसप्रीत बुमराह अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं। जडेजा भी उम्मीदों पर खरे उतरे हैं। लेकिन पंड्या का रन लुटाना और स्पिनर ऑफ स्पिनर अश्विन का विकेट नहीं चटका पाना टीम के लिए मुश्किल सबब बना हुआ है। यह मुकाबला भारत की बल्लेबाजी और पाकिस्तान की गेंदबाजी के बीच माना जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here