‘असभ्य’ IAS अफसर को मुख्य सचिव मैनर्स सिखाएगेंः मुख्यमंत्री रमन सिंह

0

छत्तीसगढ़ के IAS अधिकारी डॉ जगदीश सोनकर का पुनर्वास केन्द्र पर अशिष्ट तरीके से कुपोषित मां और बच्चे से व्यवहार वाला मामला अब मुख्यमंत्री तक पहुंच गया है।

ChmRG0SXIAEne2M (1)

मुख्‍यमंत्री डॉ. रमन सिंह को जब इस बारे में पता लगा तो उन्‍होंने कहा कि वे मुख्‍य सचिव को उन्‍हें मैनर्स सिखाने के लिए कहेंगे। डॉ जगदीश सोनकर को जब गलती का अहसास हुआ तो उन्होंने माफी मांग ली।

Read | एक आईएएस अफसर इस तरह से मिलता है कुपोषित बच्चे की मां से

Also Read:  केजरीवाल बोले- किरायदारों को कम दरों पर नहीं मिल रहा बिजली-पानी, लेकिन MCD चुनाव के बाद सभी को मिलेगा इसका फायदा

छत्तीसगढ़ के एक IAS अधिकारी की अस्पताल में एक मरीज के बेड पर पैर रखे हुए की तस्‍वीर सोशल मीडिया पर कल से शेयर की जा रही थी। तस्वीर में दिखाई देने वाले IAS अधिकारी डॉ जगदीश सोनकर बलरामपुर जिले के रामानुजगंज में एसडीएम के पद पर काबिज हैं।

मुख्‍यमंत्री डॉ. रमन सिंह को जब इस बारे में पता लगा तो उन्‍होंने कहा कि वे मुख्‍य सचिव को उन्‍हें मैनर्स सिखाने के लिए कहेंगे। इधर, सोशल मीडिया यूजर्स ने इस हरकत के लिए सोनकर भी काफी खिंचाई की। यूजर्स ने उनसे कहा कि वे लोगों का सम्‍मान करें और इस तरह की हरकतें ना करें।

Also Read:  भारतीय जांच एजेंसियों को ठेंगा दिखाते हुए बर्मिंघम में भारत-पाकिस्तान मैच का मजा लेने आए विजय माल्या, सोशल मीडिया पर बना मजाक

फोटो उस वक्त की जब वह रामानुजगंज में सरकारी योजनाओं के अंतर्गत संचालित पोषण पुनर्वास केन्द्र में कुपोषित बच्चों की खबर ले रहे थे। इस पुनर्वास केन्द्र में कुपोषण से ग्रस्त नौनिहालों को रखा जाता है, ताकि उन्हें उचित सुविधा मुहैया कराकर सुपोषित किया जा सके। एमबीबीएस की डिग्री हासिल करने के बाद वे भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) में चयनित हुए।

Also Read:  दिल्‍ली: करोलबाग के होटल में आयकर विभाग के छापे में बरामद हुए 3.25 करोड़ के पुराने नोट

तस्वीर वायरल होने के बाद एसडीएम की सोशल मीडिया पर खूब आलोचना हो रही है। हालांकि बाद में जब उन्हें अपनी गलती का अहसास हुआ तो उन्होंने माफी मांग ली। उन्‍होंने कहा कि वे ऐसा करने से बच सकते थे। उन्‍होंने जानबूझकर पैर ऊपर नहीं रखा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here