‘हमारा बचपन’ ट्रस्ट बदरपुर यूनिट के संयोजन ने कुछ इस अंदाज में मनाया ‘महिला दिवस’

0

गुरुवार 8 मार्च 2018 को ‘हमारा बचपन ट्रस्ट’ की ओर से दलित समाज की चौपाल, बदरपुर में विश्व महिला दिवस का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता के शहरी समन्वय श्री आकाश श्रीवास्तव जी एंव तरुण कुमार शर्मा ने किया तथा मंच का संचालन स्वतंत्र पत्रकार एवं सामाजिक कार्यकर्ता मा० विनीत कुमार ने किया।

महिला दिवस

कार्यक्रम में मुख्यतिथि के रूप में वार्ड न०-95(s) बदरपुर के निगम पार्षद श्री तरवन कुमार जी व विशिष्ट अतिथि के रूप में ऍम० सी० डी० की मलेरिया इंस्पेक्टर कु० स्वाति सिंघल मौजूद थी। कार्यक्रम में स्वतंत्र पत्रकार विनीत कुमार ने राष्ट्रीय निर्माण में महिलाओं के योगदान पर प्रकाश डाला तथा महिलाओं को उनके हक व अधिकारों के लिए जागरूक किया । निगम पार्षद तरवन ने महिलाओं के साथ हो रहे अत्याचारों के प्रति संवेदना व्यक्त की तथा महिलाओं को और अधिक निडर, शिक्षित व जागरूक होकर आगे बढ़ने की सलाह दी व अपने वार्ड में महिलाओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी सुनिश्चित की।

कु० स्वाति सिंघल ने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया तथा निगम की स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ उठाने के प्रति सचेत किया। इस अवसर पर शहरी गरीबी में रहने वाली महिलाओं को आत्मनिर्भर, उद्यम, रोजगारपरक, व सशक्त बनाने के उद्देश्य के लिए *सम्भवी हमारी आवाज* महिला समूह का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम में सराहनीय कार्य करने वाली आशा, उषा, गीतांजलि, आशा कनोजिया, सफ़ीना, किरण, पुष्पा, जया ,रानी, आरती, रेणु, रेखा, आदि महिलाओं व लड़कियों को सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम में सैकडों महिलाओं ने समाज मे व्याप्त बुराईयों को खत्म करने तथा अपनी सुरक्षा स्वयं करने की शपथ ली। कार्यक्रम में सैकड़ों महिलाओं ने भाग लिया और साथ ही उपस्थित महिलाओ ने बताया की किस प्रकार से हमारा बचपन के साथ जुड़कर अपने अन्दर सुधार किया एंव अपनी किसी भी समस्या को लेकर किस प्रकार से आगे बढ़ना है ये सब जानकारी ली आज के इस कार्यक्र्म में महिलाओ के साथ युवाओ ने भी अपनी भागीदारी दी।

कार्यक्रम के अन्त में सम्भवी की कुछ महिला सदस्यों ने सभी उपस्थित सदस्यों को महिलाओ के अधिकारों की जानकारी दी और साथ ही शपथ दिलाई, सम्भवी इनोसेटिव की शुरुआत 2016 में धरित्री पटनायक द्वारा भुवनेश्वर से की गयी जो की हमारा बचपन ट्रस्ट की मेंटर फाउंडर हैं। देश में अभी 67000 महिलाओ के साथ स्कील विकास के माध्यम से आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में कार्य किया जा रहा हैं, उसके बाद सभी महिलाओ को रोजगार से जोड़ने के हेतु विकल्प तलाश करके जोड़ा जायेगा जिससे उनके आर्थिक और सामाजिक स्थिति में बदलाव आएगा।

आज के इस कार्यक्र्म का उद्देश्य महिलाओ का सशक्तिकरण, आर्थिक और सामाजिक रूप से महिलाओ की भागीदारी सुनिश्चित करना था, पुनः अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनाओं के साथ कार्यक्रम का समापन किया गया।

 

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here