जुड़वां भाइयों के अपहरणकर्ताओं ने बच्चों को BJP के झंडे वाली गाड़ी में किया था अगवा, हिरासत में बजरंग दल नेता का भाई

0

मध्य प्रदेश पुलिस ने चित्रकूट में जुड़वाँ भाइयों के अपहरण और बाद में उनकी निर्मम हत्या के केस में एक बड़ा खुलासा किया है। पुलिस के अनुसार जिस बोलेरो कार में देवांश और प्रियांश को अगवा किया गया था उसपे भाजपा का झंडा लगा था। पुलिस के अनुसार, उसने अब तक छह लोगों को इस मामले में हिरासत में लिया है। गिरफ्तार होने वालों में बजरंग दल के स्थानीय नेता भाई भी शामिल है।

बजरंग दल

जिन छह लोगों को अब तक गिरफ्तार किया गया है उनके नाम हैं राजू द्विवेदी, लकी तोमर, रोहित द्विवेदी, रामकेश यादव, पिंटू रामस्वरूप यादव और पद्मा शुक्ल। पद्मा शुक्ल का छोटा भाई विष्णुकांत उर्फ़ छोटू हिंदूवादी संगठन बजरंग दाल का स्थानीय नेता है।

प्रियांश और देवांश, जिनकी उम्र छह साल थी, को १२ फ़रवरी को उनके स्कूल बस से बंदूक की नोक पर अगवा कर लिया गया था। अपहरणकर्ताओं ने उनके व्वसायिक पिता से बीस लाख रूपये की मांग की थी लेकिन पैसा मिलने के बावजूद भी उन लोगोंग ने बच्चों को रिहा नहीं किया और अपनी मांग को बढाकर एक करोड़ रूपये कर दी।

दोनों बच्चों को बाद में उनके हाथों और पांवों को बाँध कर यमुना नदी में फेंक दिया गया था जहाँ उनकी मृत्यु हो गयी।

जैसे ही उनकी हत्या की खबर फैली, स्थानीय लोगों में गुस्सा फूट पड़ा और नाराज़ लोदों ने मध्य प्रदेश के चित्रकूट में दुकानों को आग लगा दी।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा था कि उनकी बच्चों के पिता से बात बात हजुइ है और उन्होंने उनसे इन्साफ दिलाने का वादा किया है। साथ ही साथ उन्होंने इस घटना के पीछे की राजनीति को बेनक़ाब करने की बात भी कही थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here