स्मृति ईरानी, मुख्तार अब्बास नकवी समेत मोदी कैबिनेट के 23 मंत्रियों ने दफ्तर सजाने पर खर्च किए 3.5 करोड़ रुपये

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक तरफ खुद को देश का प्रधान सेवक कहते और बहुत ही साधारण पृष्ठभूमि से आए है वही दूसरी तरफ मोदी कैबिनेट के मंत्रियों ने अपने दफ्तरों को पांच सितारा होटल की तरह बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है।

मुख्तार अब्बास नकवी और राज्यवर्धन सिंह राठौड़ के साथ स्मृति ईरानी ने अपने व्यक्तिगत आराम के लिए लाखों रुपया खर्च किया है।

Also Read:  BJP leaders slam Gurudas Kamat for calling Smriti Irani 'kaam waali bai'

इकोनॉमिक टाइम्स के द्वारा डाली गई आरटीआई के जवाब में ये खुलासा हुआ है, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के मानव संसाधन मंत्री रहते समय उनके मंत्रालय ने सिर्फ कार्यालय नवीकरण पर 1.16 करोड़ रुपये खर्च किए।

ऑफिस को सजाने वाले मंत्रियों में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, चैधरी वीरेंद्र सिंह, राज्यवर्द्धन राठौड़, उपेंद्र कुशवाह, जेपी नड्डा, सांवरलाल जाट और जितेंद्र सिंह आदि शामिल हैं।

Also Read:  बीजेपी नेता का विवादित बयान कहा 'लोग तो राशन की लाइन में भी मर सकते हैं'

मिली जानकारी के अनुसार केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी जब मानव संसाधन विकास मंत्री थीं तब उनके अधिनस्थ मंत्रियों ने दफ्तर के लिए 1.16 करोड़ रूपए खर्च कर दिए थे। ईरानी के कार्यालय के लिए 70 लाख रूपए और दो राज्य मंत्रियों के कार्यालयों के लिए 40 लाख रूपए का खर्च आया था।

मुख़्तार अब्बास नक़वी ने सिर्फ ऑफिस केलिए कूड़ेदानों की खरीद पर 7,000  रूपये खर्च किये।

Also Read:  मायावती ने दलित छात्र रोहित की आत्महत्या को 'सरकारी आंतकवाद' का नतीजा बताया

गौरतलब है कि मोदी सरकार के चार सबसे बड़े मंत्री, राजनाथ सिंह, अरुण जेटली, मनोहर पार्रिकर और सुषमा स्वराज ने अपने दफ्तरों का सजाने और संवारने में एक पैसा भी खर्च नहीं किया।

सरकारी ख़ज़ाने से ऑफिस को सजाने वाले मंत्री या तो राज्य स्तर के मंत्री हैं या फिर मोदी कैबिनेट में उनका रुतबा कुछ ज़्यादा बड़ा नहीं है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here