मानवता शर्मसार: प्राइवेट अस्पताल के ICU में ऑक्सीजन मास्क लगी नाबालिग से दरिंदगी, हाथ-पैर बांधकर सामूहिक दुष्कर्म

0

उत्तर प्रदेश के बरेली में स्थित एक प्राइवेट अस्पताल के आईसीयू में भर्ती नाबालिग लड़की से गैंगरेप का सनसनीखेज मामला सामने आया है। आरोप है कि अस्पताल के ही पांच कर्मचारियों ने पीड़िता के मुंह पर ऑक्सिजन मास्क लगा होने के बावजूद आंख पर पट्टी बांधने के बाद हाथ-पैर भी बांध दिए, इसके बाद बारी-बारी से रेप किया गया। गैंगरेप की घटना के बाद तीन दिनों तक पीड़िता तड़पती रही। लेकिन शुक्रवार (2 नवंबर) को मास्क हटने के बाद पीड़िता ने इस घटना की पूरी जानकारी अपनी दादी को दी। इसके बाद पुलिस ने शनिवार (3 नवंबर) को केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

अस्पताल
प्रतिकात्मक फोटो

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, भमौरा इलाके के एक व्यक्ति की 16 वर्षीय पुत्री को जहरीले कीड़े ने काट लिया था। कई दिन तक आसपास के डॉक्टरों से इलाज कराया गया। हालत और बिगड़ने पर सोमवार को बदायूं रोड स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, यहां उसे आईसीयू में भर्ती करवाया गया। बुधवार तक वेंटिलेटर पर रहने के बाद जब
उसकी हालत में कुछ सुधार हुआ, लेकिन आईसीयू से डिस्चार्ज नहीं किया गया। लेकिन उसी रात पांच कर्मचारियों ने उसके साथ रेप किया।

पीड़िता के मुताबिक, उस वक्त भी उसके मुंह पर ऑक्सिजन मास्क लगा था। इसी दौरान उसे नशे का इंजेक्शन दिया गया और वह बेहाश होने लगी। इसी बीच उसकी आंख पर पट्टी बांध दी गई, दोनों हाथ पैर भी बांधने के बाद उसके साथ पांचों कर्मचारियों ने रेप किया, जिसमें एक कंपाउंडर है जबकि चार आरोपी अस्पताल में सफाई और अन्य कार्य करते हैं।

शुक्रवार तक उसके मुंह पर मास्क लगा रहा। इस कारण पिता जब देखने आते थे तो वह इशारे में आपबीती बताया करती थी, लेकिन पिता समझ नहीं सके। लेकिन शुक्रवार को जब हालत सुधरने पर उसे वार्ड में भर्ती कराया गया तब पीड़िता ने अपनी दादी को पूरी बात बताई। जानकारी मिलते ही परिजन अस्पताल में हंगामा करने लगे।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, एसपी सिटी अभिनंदन सिंह ने बताया, ‘पीड़िता के बयान के आधार पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। मामले से जुड़े साक्ष्य जुटाने की कोशिश की जा रही है। आरोपियों की पहचान कर गिरफ्तार किया जाएगा।’

मामला तूल पकड़ने के बाद शनिवार को सुभाष नगर थाने में केस दर्ज करने के बाद शाम को पीड़िता को मेडिकल परीक्षण के लिए भेजा गया। वहीं, इस मामले में पुलिस ने अभी तक अस्पताल के किसी भी स्टाफ को हिरासत तक में नहीं लिया है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मेडिकल परीक्षण की रिपोर्ट मिलने और अन्य जरूरी जांच के बाद आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा।

वहीं, इस घटना के बाद लोग सोशल मीडिया पर खुलकर अपनी नराजगी जता रहें है। आप नेता विपिन राठौर ने एक समाचार पत्र का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए लिखा, “आईसीयू में भर्ती किशोरी के साथ दरिंदगी की पराकाष्ठा, वेंटिलेटर पर थी बच्ची, मुंह पर ऑक्सीजन मास्क के बावजूद हाथ-पैर बांधकर सामूहिक दुष्कर्म किया गया। ऐसे राक्षसों को तो तुरंत चौराहे पर कूचकर मार देना चाहिए।”

Pizza Hut

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here