बाराबंकी में ऑनर किलिंग की दिल दहलाने वाली वारदात, धारदार हथियार से काटकर युवक की हत्या

0

एक दिल दहला देने वाली सनसनीखेज वारदात सामने आई है। बाराबंकी के थाना हैदरगढ़ से। नैपुरा गांव के रहने वाले एक युवक को बीच चौराहे दबंगों ने काटकर मौत के घाट उतार दिया।

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जनपद में दबंगों ने एक युवक को धारदार हथियारों से बड़ी ही बेदर्दी से दिनदहाड़े बीच चौराहे पर काटकर मौत के घाट उतार दिया। युवक का कसूर सिर्फ इतना था कि उसने दबंगों की बहन से शादी कर ली थी।घटना का पता लगते ही पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की गिरफ़्तारी के लिए दबिश देनी शुरू कर दी है।

Also Read:  Minister Mahesh Sharma calls beef-related lynching of man an 'accident'

एनडीटीवी की खबर के अनुसार, गांव के रहने वाले युवक राम कैलाश का लगभग डेढ़ साल पहले पड़ोस में रहने वाली लड़की से प्रेम संबंध हो गया था। दोनों ने तब शादी के लिए अपने-अपने परिवार से बात की मगर तब लड़की के परिवार वाले शादी के लिए राज़ी नहीं हुए।

इसके बाद दोनों ने घर से भागकर परिवार की मर्जी के बगैर शादी कर ली, जिसके बाद लड़की के परिवार वालों के डर से राम कैलाश के परिवार वाले गांव छोड़कर भाग गए. उन्हें यह डर था कि अगर वह गांव में रहे तो वह मार दिए जाएंगे।

Also Read:  Property dealer shot dead in front of his wife on Karva Chauth

राम कैलाश के पिता राम नेवाज की अगर मानें तो ‘उन्‍होंने पुलिस में कई बार इस बात की शिकायत भी की कि वह जब भी गांव के रास्ते से गुजरते हैं तो लोग उन्‍हें मारने के लिए दौड़ पड़ते हैं

आरोप है कि डेढ़ साल बाद इसी मुकदमे की पेशी के लिए आया राम कैलाश अपने गांव जाने के इरादे से वापस लौटा कि अगर लड़की के परिवार वाले उसे स्वीकार कर लें तो वह अपनी पत्नी को भी गांव लाकर उनसे मिलवा देगा और इसी इरादे से वह अपने गांव के दोस्तों से करौंदिया चौराहे पर मिल भी रहा था.

Also Read:  तलाकशुदा महिलाओं में 68% हिन्दू और 23.3% मुस्लिम महिलाएं : जनगणना

गांव पहुंचने पर राम कैलाश अपने गांव के दोस्तों से करौंदिया चौराहे पर मिल ही रहा था कि  लड़की के भाई समेत परिवार के चार-पांच लोग धारदार हथियार से लैस होकर वहां पहुंचे और राम कैलाश पर हमला बोल दिया।

आरोपी उसपर वार करते रहे और घायल राम कैलाश मदद के लिए चिल्लाता रहा लेकिन कोई मदद को सामने नहीं आया। ऊपर से ये वारदात देख दुकानदार अपनी दुकान बंदकर भाग गए और आस-पास के घर वालों ने डर के मारे अपने घरों के दरवाजे बंद कर लिए। चौराहे और सड़क पर सन्नाटा छा गया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here