पंचकूला हिंसा: हनीप्रीत और सुखदीप कौर को कोर्ट ने 23 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में भेजा

0

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को दो साध्‍वियों से बलात्‍कार के मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद हरियाणा के पंचकूला में हिंसा भड़काने की आरोपी हनीप्रीत इंसां और उनकी एक अन्य महिला साथी सुखदीप कौर को शुक्रवार (13 अक्टूबर) को कोर्ट ने 23 अक्टूबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। बता दें कि डेरा प्रमुख को दोषी ठहराए जाने के बाद हुई हिंसा के सिलसिले में हनीप्रीत को गिरफ्तार किया गया है।

(Express Photo/Jasbir Malhi)

शुक्रवार को हनीप्रीत की रिमांड खत्म होने के बाद उसे एक बार फिर से कोर्ट के सामने पेश किया। इससे पहले 4 अक्टूबर को कोर्ट ने हनीप्रीत को 6 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा था, जिसके बाद 10 अक्टूबर को रिमांड की अवधि 13 अक्टूबर तक के लिए बढ़ा दी थी। पंचकूला में हिंसा के बाद 38 दिनों से फरार चल रहीं हनीप्रीत को 3 अक्टूबर को हरियाणा पुलिस ने गिरफ्तार किया था।

गुरमीत राम रहीम की मुंहबोली बेटी प्रियंका तनेजा (36 साल) उर्फ हनीप्रीत की तीन दिनों की रिमांड शुक्रवार को खत्म हो गई। जिसके बाद हनीप्रीत को पंचकूला कोर्ट में पेश किया गया। लेकिन सुनवाई के दौरान हरियाणा पुलिस ने इस बार कोर्ट से रिमांड नहीं मांगा। कोर्ट ने हनीप्रीत और सुखदीप कौर को 23 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

20 साल की सजा काट रहा राम रहीम

बता दें कि डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह दो शिष्याओं के रेप के मामले में रोहतक की सुनारिया जेल में सजा काट रहा है। विशेष सीबीआई अदालत ने 28 अगस्त को उसे रेप के दोनों मामलों में 10-10 साल की यानी 20 साल की सजा सुनाई थी। जेल में उसका कैदी नंबर 1997 है। राम रहीम को 25 अगस्त को रेप के मामले में दोषी करार दिया गया था। जिसके बाद काफी हिंसा भड़क गई थी, जिसमें डेरा समर्थको की तरफ से की गई हिंसा में करीब 35 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here