दिल्ली: हिंदू सेना के कार्यकर्ताओं ने बाबर रोड के साइन बोर्ड पर पोती कालिख, सड़क का नाम बदलने की मांग की

0

सेंट्रल दिल्ली के मंडी हाउस इलाके के पास स्थित बाबर रोड के साइनबोर्ड पर कालिख पोते जाने का मामला सामने आया है। इस हरकत का आरोप दक्षिणपंथी संगठन हिंदू सेना से जुड़े लोगों पर लग रहा है।

बाबर रोड
फोटो: ANI

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, हिंदू सेना के कार्यकर्ताओं ने बंगाली मार्केट इलाके में बाबर रोड साइनबोर्ड पर कालिख पोत दिया है। इसके साथ ही उन्होंने सड़क का नाम बदलने की भी मांग की है। बता दें कि, मंडी हाउस से बंगाली मार्केट को जोड़नी वाली सड़क को बाबर रोड के नाम से जाना जाता रहा है। मुगल शासक बाबर के नाम पर बनी इस रोड के नाम को बदलने की मांग लंबे समय से दक्षिणपंथी संगठन करते रहे हैं।

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, हिंदू सेना ने डायरेक्शन बोर्ड को काला करने की पीछे की वजह भी बताई। उन्होंने बाबर को विदेशी आक्रमणकारी बतलाते हुए सरकार से मांग की कि बाबर रोड का नाम बदलकर भारत के किसी महापुरुष के नाम यह रोड किया जाए। हिंदू सेना द्वारा दिए गए एक बयान में कहा गया कि ”विदेशी आक्रमणकारी बाबर रोड का नाम बदल कर भारत के किसी महापुरुष के नाम किया जाए। ये देश श्रीराम, श्रीकृष्ण, महर्षि वाल्मीकि व संत रविदास का है, बाबर जैसे अत्याचारी का नहीं है।”

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, साइनबोर्ड पर कालिख पोतने के साथ ही हिंदू सेना से जुड़े लोगों ने उस पर अपने स्टीकर भी चिपकाएं हैं, जिन्हें पुलिस ने हटवा दिया। मामले की जानकारी मिलते ही दिल्ली पुलिस मौके पर पहुंच कर छानबीन कर रही है और सीसीटीवी और मौके पर मौजूद सुरक्षागार्डों की मदद से कालिख पोतने वालों को तलाश कर रही है।

बता दें कि 2015 में दिल्‍ली के औरंगजेब रोड का नाम बदलकर पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के नाम पर कर दिया गया था। इसके बाद से ही हिन्‍दू सेना के कार्यकर्ता बाबर रोड के नाम को भी बदलने की लगातार मांग कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here