हिंदू महासभा ने योगी आदित्यनाथ पर लगाया हिंदुओं को बांटने का आरोप, चुनाव आयोग को पत्र लिखकर की बैन की मांग

0

हिंदू महासभा ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हिंदुओं को बांटने का आरोप लगाया है। इतना ही नहीं, हिन्दू महासभा ने भारत निर्वाचन आयोग को पत्र लिखकर कहा है कि वे चुनाव के लिए हिंदुओं की भावनाओं को प्रभावित करने के लिए यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ कार्रवाई करें।

हिंदू महासभा
(Subhankar Chakraborty/HT PHOTO)

भारत निर्वाचन आयोग के लिखे अपने पत्र में हिंदू महासभा ने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने राजस्थान के अलवर जिले में एक रैली को संबोधित करते हुए हनुमान को ‘वनवासी, वंचित और दलित’ कहा था। हिंदुत्व समुदाय के मुताबिक, उनके इस बयान से हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचा है।

अपने पत्र में उन्होंने आगे लिखा कि, श्री योगी आदित्यनाथ न केवल हिंदू समुदाय की धार्मिक भावनाओं ठेस पहुंचा है बल्कि आगामी चुनावों में जीतने के लिए उन्होंने हिंदुओं को जातियों और उपक्रमों में विभाजित करने का भी प्रयास किया है।

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाल ही में राजस्थान के अलवर जिले के मालाखेड़ा में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए भगवान हनुमान को दलित, वनवासी, गिरवासी और वंचित करार दिया था। ख़बरों के मुताबिक, योगी के इस बयान से नाराज राजस्थान सर्व ब्राह्मण महासभा ने उन्हें कानूनी नोटिस भेजा है। वहीं, विपक्षी पार्टियों और कई संगठनों के निशाना साधने के बाद उत्तर प्रदेश के गवर्नर राम नाइक ने भी सीएम योगी आदित्यनाथ को नसीहत दी है।

बता दें कि राजस्थान में 200 सीटों के लिए सात दिसंबर को मतदान होना है, जबकी वोटों की गिनती 11 दिसंबर को होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here