कर्नाटक संकट: सरकार पर आए संकट के बीच सीएम कुमारस्वामी विधानसभा में बहुमत साबित करने को तैयार

0

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी ने शुक्रवार को विधानसभा में कहा कि जनता दल (सेकुलर)-कांग्रेस की गठबंधन सरकार के पास विधानसभा में बहुमत है और वह विश्वास मत साबित करने के लिए पूरी तरह तैयार है। इसके साथ ही उन्होंने विधानसभा स्पीकर से समय निश्चित करने के लिए कहा है। उन्होंने शुक्रवार को विधानसभा में कहा, ‘मैंने तय किया है विश्वास मत हासिल करूंगा। कृपया इसके लिए समय निश्चित किया जाए।’

(PTI File Photo)

कुमारस्वामी ने कहा कि मैं हर चीज के लिए तैयार हूं, सत्ता से चिपकने के लिए यहां नहीं हूं। आपको बता दें कि कुमारस्वामी ने यह बात शुक्रवार को शुरू हुए विधानसभा बजट सत्र के दिन कही है। एचडी कुमारस्वामी ने शुक्रवार को विधानसभा में इसका ऐलान करते हुए अध्यक्ष से कहा कि इन सभी घटनाक्रमों के बाद मैं इस सत्र में अपना बहुमत साबित करने के लिए तैयार हूं। कृपया इसके लिए समय तय करें।

सुप्रीम कोर्ट ने दिए यथास्थिति बनाए रखने के आदेश

वहीं, दूसरी तरह शुक्रवार को ही सुप्रीम कोर्ट में भी कर्नाटक में बागी विधायकों को लेकर सुनवाई हुई। जिसमें सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार (16 जुलाई) तक यथास्थिति बनाए रखने का आदेश दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को कर्नाटक विधानसभा के अध्यक्ष के आर रमेश कुमार से कहा कि सत्तारूढ गठबंधन के 10 बागी विधायकों के इस्तीफों और उनकी अयोग्यता के मसले पर अगले मंगलवार तक कोई भी निर्णय नहीं लिया जाए। इस दौरान स्पीकर ना तो विधायकों के इस्तीफे पर और ना ही अयोग्य करार होने पर फैसला ले सकते हैं। अब इस मसले पर मंगलवार को सर्वोच्च अदालत में सुनवाई होगी।

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता और न्यायमूर्ति अनिरूद्ध बोस की तीन सदस्यीय पीठ ने सुनवाई के दौरान ‘‘महत्वपूर्ण मुद्दे उठने’’ का जिक्र करते हुए कहा कि वह इस मामले में 16 जुलाई को आगे विचार करेगी और शुक्रवार की स्थिति के अनुसार तब तक यथास्थिति बनाए रखी जानी चाहिए। पीठ ने अपने आदेश में विशेष रूप से इस बात का उल्लेख किया कि कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष के आर रमेश कुमार इन बागी विधायकों के त्यागपत्र और अयोग्यता के मुद्दे पर कोई निर्णय नहीं लेंगे, ताकि मामले की सुनवाई के दौरान उठाए गए व्यापक मुद्दों पर न्यायालय निर्णय कर सके।

शीर्ष अदालत ने गुरुवार को विधानसभा अध्यक्ष से कहा था कि 10 बागी विधायकों के इस्तीफे के मामले में तत्काल फैसला किया जाए। इसके साथ ही न्यायालय ने कर्नाटक के पुलिस महानिदेशक को मुंबई से बेंगलुरू पहुंच रहे बागी विधायकों को एयरपोर्ट से विधानसभा तक समुचित सुरक्षा प्रदान करने का भी निर्देश दिया था। कर्नाटक में चल रहे राजनीतिक संकट के दौरान अभी तक कुल 16 विधायक (कांग्रेस के 13 और जद (एस) के तीन विधायक) इस्तीफा दे चुके हैं। दो निर्दलीय विधायकों ने भी 13 महीने पुराने सत्तारूढ गठबंधन से अपना समर्थन वापस ले लिया है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here