हाथरस गैंगरेप पीड़िता ने दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में तोड़ा दम, प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर साधा निशाना

0

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश के हाथरस में एक लड़की के साथ कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार की घटना को लेकर मंगलवार को राज्य सरकार पर निशाना साधा और दावा किया कि प्रदेश में कानून-व्यवस्था हद से ज्यादा बिगड़ चुकी है व महिलाओं की सुरक्षा का नाम-ओ-निशान नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि महिलाओं की सुरक्षा के प्रति मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जवाबदेही है।

हाथरस

प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘हाथरस में हैवानियत झेलने वाली दलित बच्ची ने सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया। दो हफ्ते तक वह अस्पतालों में जिंदगी और मौत से जूझती रही। हाथरस, शाहजहांपुर और गोरखपुर में एक के बाद एक बलात्कार की घटनाओं ने राज्य को हिला दिया है।’’

कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी ने दावा किया, ‘‘उप्र में कानून व्यवस्था हद से ज्यादा बिगड़ चुकी है। महिलाओं की सुरक्षा का नाम-ओ-निशान नहीं है। अपराधी खुले आम अपराध कर रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इस बच्ची के क़ातिलों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। योगी आदित्यनाथ जी, उप्र की महिलाओं की सुरक्षा के प्रति आप जवाबदेह हैं।’’

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने ट्वीट किया, “यूपी के हाथरस में गैंगरेप के बाद दलित पीड़िता की आज हुई मौत की खबर अति-दुःखद। सरकार पीड़ित परिवार की हर संभव सहायता करे व फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाकर अपराधियों को जल्द सजा सुनिश्चित करे, बीएसपी की यह माँग।”

उत्तर प्रदेश के हाथरस में दो हफ्ते पहले गैंगरेप की शिकार हुई 19 वर्षीय पीड़िता ने मंगलवार को इलाज के दौरान दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया। महिला के साथ 14 सितंबर 2020 को हाथरस में सामूहिक बलात्कार हुआ था। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पीड़िता की हालत बहुत बुरी थी और उसके शरीर में कई जगह फ्रैक्चर आए थे। हैवानों ने गैंगरेप के बाद उसकी जीभ तक काट दी थी।

19 वर्षीय लड़की के साथ 14 सितम्‍बर को हाथरस के चंदपा थाना क्षेत्र के एक गांव में दरिंदगी हुई थी। पीड़िता पिछले दो हफ्ते से अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कालेज में भर्ती थी। वहां हालत में कोई सुधार नहीं होने पर उसे दिल्‍ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इस मामले में चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। लेकिन शुरुआत में पुलिस की कार्रवाई पर सवाल भी उठे। पीड़िता दलित जाति से थी। वहीं, सभी आरोपी कथित रूप से उच्च जाति से संबंध रखते हैं। (इंपुट: भाषा के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here