‘मेरे बैग में क्या है वो देखने से पहले जय शाह के खाते में देखना जरूरी है’

0

गुजरात विधानसभा चुनाव जितना करीब आ रहा है उसी राज्य में राजनीतिक गहमा-गहमी तेज हो गई है। माना जा रहा है कि इस बार कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में कांटे की टक्कर है। इस बीच कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और पाटीदार नेता हार्दिक पटेल से जुड़ा एक वीडियो मीडिया में आने के बाद हलचल तेज हो गई है। बीजेपी का आरोप है कि दोनों के बीच मुलाकात हुई है, जबकि हार्दिक पटेल ने बीजेपी के इन आोरोपों को खारिज कर दिया है।

@HardikPatel_

दरअसल, सोमवार (23 अक्टूबर) को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी गुजरात के दौरे पर थे। कुछ मीडिया रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि हार्दिक पटेल और राहुल गांधी के बीच मुलाकात हुई। वहीं कुछ रिपोर्ट में इन दोनों के बीच मुलाकात नहीं होने की बात बताई जा रही थी, लेकिन इससे जुड़े कुछ वीडियो सामने आए हैं जिसमें हार्दिक पटेल उस होटल में जाते दिख रहे हैं, जहां राहुल गांधी ठहरे हुए थे।

इस वीडियो के सामने आने के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष और हार्दिक पटेल की मुलाकात को लेकर सियासी हलचल तेज हो गई है। सोशल मीडिया पर तो यहां तक दावा किया जा रहा है कि होटल से निकलते वक्त हार्दिक पटेल के हाथों में जो बैग था वह नोटों की गड्डियों से भरा हुआ था। इन आरोपों पर हार्दिक पटेल ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

अमित शाह के बेटे जय शाह की कंपनी का टर्नओवर कथित तौर पर 16 हजार गुना बढ़ने की खबरों का सहारा लेते हुए हार्दिक पटेल ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए ट्वीट किया है कि “मेरे बैग में क्या है वो देखने से पहले जय शाह के खाते में देखना जरूरी है।” वहीं एक अन्य ट्वीट में पटेल लिखा है कि “गुजरात में हज़ारों लीटर शराब भाजपा की निगरानी में बॉर्डर से आती हैं। तब यह CCTV कहां जाते हैं।”

अशोक गहलोत ने लगाया जासूसी का आरोप

वहीं, दूसरी तरफ कांग्रेस ने गुजरात पुलिस और इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) पर उसके नेताओं की जासूसी करने का आरोप लगाया है। कांग्रेस नेता अशोक गहलोत ने गुजरात पुलिस और आईबी पर उनकी जासूसी करने तथा अहमदाबाद के उस होटल से सीसीटीवी फुटेज हासिल करने का आरोप लगाया है, जिसमें वह ठहरे हुए थे।

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस महासचिव गहलोत अशोक गहलोत ने आरोप लगाया है कि गुजरात के जिस होटल में वह पाटीदार आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल और दलित नेता जिग्नेश मेवानी से मिले थे उसकी सीसीटीवी फुटेज स्थानीय पुलिस और आईबी के लोग ले गए।

गहलोत ने एक्सप्रेस से कहा कि होटल के अधिकारियों ने उन्हें बताया कि “आईबी और पुलिस के लोग पूछताछ कर रहे थे कि किससे कौन मिलने आया था…उसके बाद वो होटल का सीसीटीवी फूटेज ले गये और उसे मीडिया को दे दिया।” गहलोत ने कहा कि, “राहुल गांधी से मिले, किस से मिले, क्या हुआ…इनको क्या मतलब है। कौन किस से मिला इनको क्या मतलब है। कोई भगोड़ा है क्या?”

अखबार के मुताबिक, होटल के चीफ सिक्योरिटी अफसर विक्रम सिंह शेखावत ने कहा कि, “पुलिस ने किसी कमरे की तलाशी नहीं ली, लेकिन वीवीआईपी की आवाजाही की वजह से होटल में दिन भर पुलिस और आईबी के कई लौग तैनात रहे। पुलिस ने हमसे सीसीटीवी फूटेज मांगा और प्रबंधन से बात करने के बाद हमने उन्हें वो सौंप दिया।”

दरअसल, जिस सीसीटीवी फुटेज को लेकर हंगामा हो रहा है उस वीडियो में हार्दिक पटेल अहमदाबाद के उम्मेद होटल में घुसते दिख रहे हैं, जहां कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी रुके हुए थे। रविवार रात 11 बजकर 53 मिनट से सोमवार शाम 4.14 बजे तक की पांच वीडियो फुटेज में हार्दिक पटेल को होटल में घुसते और बाहर निकलते देखा गया। हालांकि, पटेल ने जोर देकर राहुल गांधी से मुलाकात से इंकार किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here