अमरनाथ यात्रियों पर आतंकी हमला: पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने हमले को बताया साजिश

0

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में सोमवार(10 जुलाई) को पाक परस्त आतंकियों ने अमरनाथ यात्रियों की बस पर हमला कर दिया। इसमें सात श्रद्धालुओं की मौत हो गई। जबकि 32 अन्य घायल हो गए हैं। मरने वालों में छह महिलाएं शामिल हैं। घायलों में से कई की हालत नाजुक बनी हुई है। उन्हें अनंतनाग और श्रीनगर के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने सात यात्रियों के मारे जाने की पुष्टि की है। हमला रात करीब 8:20 बजे हुआ।

हार्दिक पटेल के बिगड़े बोल
फाइल फोटो

बताया जा रहा है कि जिस बस पर हमला हुआ है वह गुजरात की थी। मारे गए सभी श्रद्धालु गुजरात के रहने वाले थे। इस आतंकी हमले की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सहित पूरे देश में निंदा हो रही है, लेकिन इस बीच कुछ लोगों को इस हमले के पीछे साजिश की बू आ रही है।

Also Read:  गुजरात तट पर जहाज से पकड़ी गई 3500 करोड़ की हीरोइन

जी हां, गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले को इस साल होने वाले गुजरात चुनाव से जोड़ते हुए साजिश की आशंका जाहिर की है। हार्दिक ने सवाल उठाते हुए ट्विटर पर लिखा, ‘क्या? गुजरात में इस साल चुनाव हैं। अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले में मरने वाले सभी गुजरात के हैं। सुरक्षा पर सवाल या फिर साजिश?’

हालांकि, साजिश की आशंका वाले ट्वीट पर जब लोगों ने हार्दिक पर निशाना साधना शुरू किया तो उन्होंने एक और ट्वीट करते हुए लिखा, ‘कायराना हमला, कायरना हमला यह बोलना बंद करो और हिंदुस्तान की ताक़त बताओ।। दूसरों को कोसना बंद करो, हम क्या है वो बताओ।।। जय हिंद’

अमरनाथ यात्रियों पर कई बार हो चुके हैं हमले

  • सन 1993: हरकतुल अंसार आतंकी संगठन ने अमरनाथ यात्रियों पर हमले किए थे। इस दौरान दो हमलों में तीन लोग मारे गए थे।
  • सन 1994: एक बार फिर से हरकतुल अंसार ने यात्रियों पर हमला किया। इसमें दो श्रद्धालुओं की मौत हो गई थी।
  • सन 1995: हरकतुल अंसार ने तीन बार हमले किए लेकिन किसी की जान नहीं गई।
  • सन 1996: आतंकियों ने कई हमले किए लेकिन वे यात्रियों को कोई नुकसान नहीं पहुंचा पाए थे।
  • 1 अगस्त 2000: आतंकियों ने पहलगाम में बेस कैंप पर हमला किया। जिसमें अमरनाथ श्रद्धालु और स्थानीय लोग समेत 30 लोग मारे गए थे।
  • 23 जुलाई 2001: अमरनाथ यात्रियों के शिविर पर हमले में 13 श्रद्धालु और पुलिसकर्मी मारे गए।
  • 30 जुलाई 2002: दो अमरनाथ यात्री ग्रेनेड हमले में मारे गए।
  • 6 अगस्त 2002: पहलगाम के लिद्दर में एक शिविर पर लश्कर के आंतकी हमले में 10 श्रद्धालु मारे गए।
  • 29, जुलाई 2015: अनंतनाग में यात्र मार्ग पर ग्रेनेड फटा, कई यात्री घायल हो गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here