हार्दिक पंड्या और राहुल को ‘महिला विरोधी’ कमेंट करना पड़ा भारी, जांच लंबित होने तक दोनों निलंबित

0

भारतीय क्रिकेटर हार्दिक पांड्या और केएल राहुल टेलिविजन के चर्चित शो ‘कॉफी विद करन’ के दौरान महिलाओं को लेकर दिए विवादास्पद बयान के बाद मुश्किलों में घिर गए हैं। शुक्रवार (11 जनवरी) को टीवी कार्यक्रम के दौरान महिलाओं पर गई टिप्पणियों के लिए जांच लंबित होने तक दोनों निलंबित कर दिया गया। इस कार्रवाई के कारण वे शनिवार से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज से बाहर हो सकते हैं।

प्रशासकों की समिति (सीओए) के प्रमुख विनोद राय ने पीटीआई से शुक्रवार को इस बात की पुष्टि की है कि हार्दिक और राहुल को महिलाओं पर उनकी विवादास्पद टिप्पणियों के लिए जांच लंबित रहने तक निलंबित कर दिया गया है। गौरतलब है कि टीवी शो ‘कॉफी विद करण’ के दौरान इन दोनों क्रिकेटरों द्वारा की गई आपत्तिजनक टिप्पिणयों के कारण बवाल मच गया था। खासकर पंड्या की टिप्पणी की काफी आलोचना हुई थी।

राय ने पीटीआई से कहा, ‘‘पंड्या और राहुल दोनों को जांच लंबित होने तक निलंबित किया गया है।’ बीसीसीआई सूत्रों ने एजेंसी को बताया कि इन दोनों को औपचारिक जांच शुरू होने से पहले नए सिरे से कारण बताओ नोटिस जारी किया जाएगा। बोर्ड के एक अधिकारी ने कहा, ‘जो जांच करेगा वह बीसीसीआई की अंतरिम समिति होगी या तदर्थ लोकपाल इसका फैसला अभी नहीं किया गया है।’

उन्होंने कहा, ‘भारतीय टीम प्रबंधन यह फैसला करेगा कि वह इन दोनों को टीम में बनाए रखना चाहता है या उन्हें स्वदेश भेजना चाहता है। कुछ का मानना है कि उन्हें टीम के साथ रखना चाहिए क्योंकि स्वदेश में उनके खिलाफ लोगों का रवैया कड़ा हो सकता है जबकि बीसीसीआई के अधिकतर अधिकारी इसके खिलाफ हैं।’ अगर इन दोनों को ऑस्ट्रेलिया से स्वदेश बुलाया जाता है तो उनकी जगह ऋषभ पंत और मनीष पांडे को टीम में शामिल किया जा सकता है।

निलंबित की हुई थी सिफारिश

यह फैसला तब आया जबकि सीओए में राय की साथी डायना इडुल्जी ने इन दोनों पर ‘आगे की कार्रवाई तक निलंबन’ की सिफारिश की थी, क्योंकि बीसीसीआई की विधि टीम ने महिलाओं पर इनकी विवादास्पद टिप्पणी को आचार संहिता का उल्लंघन घोषित करने से इनकार कर दिया है। इडुल्जी ने शुरुआत में इन दोनों को दो मैचों के लिए निलंबित करने का सुझाव दिया था, लेकिन बाद में इस मामले को विधि विभाग के पास भेज दिया, जबकि राय उनसे सहमत हो गए थे और निलंबन की सिफारिश कर दी थी।

कानूनी टीम से राय लेने के बाद इडुल्जी ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा (पीटीआई से), ‘यह जरूरी है कि दुर्व्यवहार पर कार्रवाई का फैसला लिए जाने तक दोनों खिलाड़ियों को निलंबित रखा जाए जैसा कि (बीसीसीआई) सीईओ (राहुल जौहरी) के मामले में किया गया था जब यौन उत्पीड़न के मामले में उन्हें छुट्टी पर भेजा गया था।’ बता दें कि कार्यक्रम में की गईं इन दोनों की टिप्पणियों की भारतीय कप्तान विराट कोहली ने भी निंदा की। उन्होंने इसे अनुचित बताया है।

आलोचना के बाद मांगी माफी

महिलाओं को लेकर कई आपत्तिजनक टिप्पणियां देकर लोगों के गुस्से का शिकार हुए हार्दिक ने ट्विटर पर बुधवार को ट्विटर पर एक माफीनामा जारी किया था। अपनी सफाई में उन्होंने कहा कि वे शो में भावनाओं में बहक गए थे और उनका किसी का अपमान करने का कोई इरादा नहीं था। बता दें कि इससे पहले इस शो में उनके द्वारा महिलाओं पर किए गए इन विवादित टिप्पणियों को लेकर पंड्या को सोशल मीडिया पर ‘महिला-विरोधी’ कहा गया।

पंड्या ने बुधवार को माफीनामा ट्वीट कर खेद जताते हुए लिखा, ‘कॉफी विद करन में मेरे बयान से जिन्हें भी दुख हुआ है या जिन्हें मैंने किसी भी प्रकार से कष्ट दिया है मैं उन सभी से माफी मांगता हूं। मैं इस शो की प्रकृति के चलते थोड़ा ज्यादा बोल गया। मैं किसी भी रूप में किसी का अनादर या किसी की भावनाओं को ठेस पहंचाना नहीं चाहता था। सम्मान।’

25 वर्षीय ऑलरांउडर खिलाड़ी पंड्या फिल्म निर्माता करण जौहर द्वारा होस्ट किए जाने वाले चैट शो ‘कॉफी विद करन’ में अपने साथी खिलाड़ी केएल राहुल के साथ थे। इस सिलेब्रिटी शो में उन्होंने कई विवादित टिप्पणियां की थीं। इस चैट शो में करण जौहर से बात करते हुए हार्दिक ने कहा था कि उन्हें एक ही मेसेज कई लड़कियों को भेजने में कोई दिक्कत नहीं है और वह उनसे उनकी ‘उपलब्धता’ के बारे में उनसे खुलकर बात करते हैं।

इसके अलावा उन्होंने रिलेशनशिप, डेटिंग और महिलाओं से जुड़े दूसरे सवालों पर भी बेबाक टिप्पणियां कीं। इस शो में पंड्या ने यह बात कबूली थी कि वह कई महिलाओं के साथ रिलेशन में रहे हैं और वह अपने अभिभावकों के साथ भी बहुत ओपन हैं। इसके बाद पंड्या की आलोचनाएं शुरू हो गईं और लोगों ने बीसीसीआई को भी नसीहत दी कि उसे अपने खिलाड़ियों को इस प्रकार के चैट शो पर जाने से रोकना चाहिए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here