ट्रस्ट के जरिए गुजरात की मुख्यमंत्री पर हज़ारो करोड़ के घोटाले का आरोप

0

अश्विनी अग्रवाल, अहमदाबाद

गुजरात काँग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अर्जुन मोठवाडिया ने ग्रामश्री ट्रस्ट के जरिए गुजरात की मुख्यमंत्री आनंदी बेन पटेल, उनकी बेटी अनार पटेल और दामाद जयेश पटेल पर तकरीबन हज़ारों करोड़ रुपए की वित्तीय अनियमिताओ का गंभीर आरोप लगाया है।
67Anandiben.jpg.image.975.568

अर्जुन मोठवाडिया के मुताबिक जिस तरह विजय माल्या देश के बैंकों का 9 हज़ार करोड़ रुपया डकारकर देश से फरार हो गए, कही उसी तरह गुजरात की मुख्यमंत्री और उनका परिवार न फरार हो जाए।

अर्जुन मोठवाडिया ने बताया कि आरटीआई के जरिए उन्हे जानकारी मिली कि गुजरात के कल्पेश पटेल द्वारा बडौदा मे 1600 करोड रुपए की वित्तीय अनियमिताए हुई है।

“घोटाले का खुलासा होने पर भारत सरकार ने भी माना कि ग्रामश्री ट्रस्ट मामले में फेमा, पी.एम.एल जैसे क़ानून का साफ तौर पर उल्लंघन हुआ है। 16 अक्टूबर 2015 को आरटीआई के जवाब में भारत सरकार ने बताया कि मामले कि गंभीरता को देखते हुए इसे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के क्षेत्रीय ऑफिस को योग्य कार्यवाही के लिए भेज दिया गया है। अर्जुन मोठवाडिया का आरोप है कि ग्रामश्री ट्रस्ट से आनंदी बेन पटेल की बेटी अनार पटेल और दामाद जयेश पटेल सीधे तौर पर जुड़े है।”

अर्जुन मोठवाडिया ने बताया कि गुजरात में विजय माल्या जैसी घटना न हो, इस वजह से आरटीआई के जरिए जानकारी मांगी भी मांगी गई कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के नोटीस नं एफ.नंसी-20-141-2011 जो उस दौरान के सहायक निदेर्शक स्नेहलता ग्रोवर द्वारा दिया गया था पर क्या कार्यवाही हुई।

उधर एक RTI कार्यकर्ता रौशन शाह ने अहमदाबाद के पासपोर्ट ऑफिस में 9 अप्रैल 2016 को ईमेल के जरिए गुजरात की मुख्यमंत्री आनंदी बेन पटेल, उनकी बेटी अनार पटेल और दामाद जयेश पटेल के पासपोर्ट तत्काल प्रभाव से रद करने की भी मांग की है।

गुजरात के वरिष्ठ वकील आर.के.कोष्टी ने भी सवाल किया कि भारत सरकार के प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने सिर्फ नोटीस जांरी कर देश के 14000 ट्रस्टो के लाईसंन्स केन्संल किये है। ऐसे में गुजरात की मुख्यमंत्री आंनदी बेन पटेल की बेटी के ग्रामश्री ट्रस्ट पर क्यों कार्यवाही नही की गई।

ग्रामश्री ट्रस्ट से जुड़े इस पूरे मामले पर जब अनार पटेल के ऑफिस में संपर्क किया गया तो उनके निजी सहायक प्रतीक पटेल ने बताया कि अनार पटेल अभी गुजरात में नहीं है, वो विदेश गयी है।

LEAVE A REPLY