LIVE टीवी बहस के दौरान ऑडियो विवाद को लेकर अर्नब गोस्वामी के शो से बाहर चले गए नाराज पैनलिस्ट

0

रिपब्लिक टीवी पर गुरुवार को अर्नब गोस्वामी का शो नाटक के रुप में बदल गया, क्योंकि उनके प्राइम टाइम शो में हिस्सा लेने वाले उनके मेहमानों में से एक कार्यक्रम के दौरान बाहर चले गए। क्योंकि, लाइव टीवी बहस के दौरान पैनलिस्ट और अर्नब गोस्वामी के बीच ऑडियो को लेकर विवाद पैदा हो गया था। गोस्वामी तृणमूल कांग्रेस सरकार के खिलाफ पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों द्वारा शुरू किए गए उग्र आंदोलन की राजनीतिक गिरावट पर बहस कर रहे थे।

अर्नब गोस्वामी

वह (शो से बाहर जाने वाले पैनलिस्ट) डॉक्टरों के साथ तृणमूल कांग्रेस के प्रतिनिधि और भाजपा समर्थकों द्वारा उनके शो में शामिल थे। बहस में भाग लेने वाले एक डॉक्टर ने कहा, “हम भाजपा का समर्थन नहीं करते हैं, न ही हम इसके खिलाफ हैं। हम आंदोलन का शांतिपूर्ण समाधान चाहते हैं, बर्बरता बंद करो। मुझे जूनियर डॉक्टरों से सहानुभूति है। मैं खुद 20 साल पहले एक जूनियर डॉक्टर था। उनका आत्मविश्वास चकनाचूर हो गया है।” यह उन्होंने उस समय कहा जब गोस्वामी ने तृणमूल प्रवक्ता गार्गा चटर्जी को संबोधित करते हुए जोर से चिल्लाया, “यह गार्गा सुनो… यह सुनो, वह सुनो। गार्गा को यह सुन लेने दो।”

जबकि गोस्वामी ने चटर्जी से पैनल में डॉक्टर द्वारा उठाए जा रहे बिंदु को सुनने के लिए अपना हस्तक्षेप करने के लिए कहा, इसके बाद चटर्जी ने ऑडियो समस्या को इंगित करना शुरू कर दिया। उन्होंने कहा कि वह स्टूडियो से ऑडियो नहीं सुन पा रहे। वह इस बहस में अपने घर से शामिल हुए थे। लेकिन, गोस्वामी ने जोर देकर कहा कि जब कोई नहीं था तब चटर्जी ऑडियो समस्या को हल कर रहे थे। उन्होंने कहा, “गर्गा, आप स्पष्ट सुन सकते हैं।” तृणमूल प्रतिनिधि ने जवाब दिया, “मुझे आवाज नहीं मिल रही है, क्या बकवास है।?”

अर्नब गोस्वामी ने कहा, “आपका ऑडियो बिल्कुल स्पष्ट है। You are faking it। आपके पास कोई प्रतिक्रिया न होने के कारण आप ऐसे बोल रहे है।” इसके बाद चटर्जी ने जोर देकर कहा कि वह झूठ नहीं बोल रहे हैं क्योंकि उन्होंने कैमरे के सामने आने के लिए अपने घर के अंदर मौजूद रिपब्लिक टीवी कैमरामैन को संबोधित किया और पुष्टि की कि वास्तव में ऑडियो समस्या है।

गोस्वामी ऑडियो मुद्दे को लेकर चटर्जी के परेशानी का सामना करने के दावों को सच मामने के मूड में नहीं दिखे। उन्होंने कहा, “आपको रंगे हाथों पकड़ा गया है, अन्यथा जब मैंने आपका नाम बताया तो आपने मुझे कैसे सुना।” गोस्वामी और चटर्जी दोनों कई मिनट तक ऑडियो के मुद्दें को लेकर बहस करते रहे। ऐसा प्रतीत होता है कि चटर्जी गोस्वामी को सुनने में सक्षम थे, लेकिन वे इस कार्यक्रम में अन्य मेहमानों विशेष रूप से डॉक्टर के स्पष्ट ऑडियो नहीं सुन पा रहे थे।

गोस्वामी ने कहा, गार्गा बैठ जाओ और अपना नाटक बंद करो। गोस्वामी के इस बात से नाराज होकर चटर्जी ने शो से बाहर निकलने का निर्णय ले लिया। उनके शो छोड़ने के बाद गोस्वामी ने कहा, “वह बाहर चला गया क्योंकि वह जवाब नहीं दे सकता है।”

इसके कुछ घंटे बाद चटर्जी ने ट्वीट कर कहा, “आज रात मैं रिपब्लिक टीवी के एक शो में था। शुरू से ही मुझे बहुत कम ऑडियो मिल रहे थे। बाद में शो के मेजबान अर्नब गोस्वामी ने दावा किया कि मैं नहीं सुनने का नाटक कर रहा था। मैंने इस तरह के थिएटर को जारी रखने के लिए नहीं चुना और शो छोड़ दिया।” चटर्जी के ट्विटर बायो के मुताबिक, वह एक ‘मस्तिष्क वैज्ञानिक’ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here