बेबी बंप के साथ ग्रैमी अवार्ड स्टेज पर उतरी बियॉन्से, बेझिझक होकर किया परफॉर्म, फिर से चूकीं अनुष्का शंकर

0

भारतीय सितार वादक और गायिका अनुष्का शंकर एक बार फिर से ग्रैमी अवॉर्ड्स हासिल करने से चूक गई हैं। जबकि इस बार ग्रैमी अवॉर्ड के स्टेज पर बियॉन्से की पेरफ़ोर्मेंस ने सबको चौंका दिया। बेयोंसे ने जबरदस्त प्रस्तुति देकर धूम मचाई लेकिन यह रात ब्रिटेन की गायिका एडेले के नाम रही। सबसे महत्वपूर्ण पुरस्कार मसलन एल्बम ऑफ दी ईयर, रिकॉर्ड ऑफ दी ईयर और सॉन्ग ऑफ दी ईयर एडेले को मिले ।

एडेले को जिन पांच श्रेणियों में नामित किया गया था उन्हें उन सभी में जीत हासिल हुई, इसमें बेस्ट पॉप सोलो परफॉर्मेंस और बेस्ट वोकल एल्बम शामिल हैं। बेयोंसे के एल्बम ‘लेमोनेड’ का नामांकन नौ श्रेणियों में किया गया था लेकिन उन्हें केवल दो श्रेणियों- बेस्ट अर्बन कंटेंपररी एल्बम और बेस्ट म्यूजिक वीडियो से ही संतोष करना पड़ा।

28 वर्षीय एडेले को लगातार दूसरे साल समारोह में तकनीकी परेशानियों का सामना करना पड़ा। उन्होंने अपने भाषण में क्वीन बे (बेयोंसे को उनके प्रशंसक इसी नाम से बुलाते हैं) का भी जिक्र किया। एडेले ने बेयोंसे से कहा, ‘‘हम सभी कलाकार आपके प्रशंसक हैं।

भाषा की खबर के अनुसार, आप हमारे लिए रौशनी हैं। मेरी क्वीन मेरी आदर्श, क्वीन बी। मैं आपका सम्मान करती हूं।’’ एल्बम ऑफ दि ईयर का पुरस्कार स्वीकार करते हुए ऐडेले ने कहा, ‘‘आपने जिस तरह मेरे दोस्तों को महसूस करवाया, मेरे अश्वेत दोस्तों को जो महसूस करवाया वह हौसला बढ़ाने वाला है।’’ 59वें एन्युअल ग्रैमी में गर्भवती बेयोंसे भले ही ऐडेले से पिछड़ गई हों लेकिन ‘लव ड्रॉट’’ और ‘‘सेंडकेटल्स’’ पर उनकी प्रस्तुति ने समारोह में जान डाल दी।

विश्व संगीत श्रेणी में ग्रैमी जीतने वाले यो यो मा के एल्बम ‘सिंग मी होम’ का हिस्सा रहे भारत के तबलावादक संदीप दास ने पुरस्कार जीतने के बाद पीटीआई-भाषा को फोन पर कहा, ‘‘तीसरी बार हमारी किस्मत ने साथ दिया। मैं जो हूं, जहां से आता हूूं (सांस्कृतिक या संगीत पृष्ठभूमि) उस पर मुझे गर्व है। मैं आशा करता हूं कि मेरे अपने देश में संगीत को और तवज्जो मिले, संगीत हमारे खून में है।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here