सरकार ने 2,000 के नोट की छपाई को फिलहाल बंद करने का संकेत दिया, जानिए क्या है वजह

0

सरकार ने शुक्रवार (4 जनवरी) को संकेत दिया है कि 2,000 रुपए के नोटों की छपाई को फिलहाल के लिए रोक दिया गया है क्योंकि चलन में यह नोट पर्याप्त मात्रा में है। बता दें कि दो साल पहले नोटबंदी के बाद 2,000 रुपये के नए नोट जारी किए गए थे।

सरकार

आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने अपने ट्वीट में कहा कि अनुमानित जरूरत के हिसाब से नोटों की छपाई की योजना बनाई जाती है। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा, सिस्टम में 2,000 रुपये के नोट पर्याप्त मात्रा में हैं। मूल्य के आधार पर इस समय जितने नोट चलन में मौजूद हैं, उनमें 35 प्रतिशत नोट 2,000 रुपये के ही हैं। गर्ग ने कहा, हाल फिलहाल में 2,000 रुपये के नोटों की छपाई को लेकर कोई फैसला नहीं किया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रिजर्व बैंक और सरकार समय समय पर करेंसी की छपाई की मात्रा पर फैसला करते हैं। इसका फैसला चलन में मुद्रा की मौजूदगी के हिसाब से किया जाता है। जिस समय 2,000 का नोट जारी किया गया था तभी यह फैसला किया गया था कि धीरे-धीरे इसकी छपाई को कम किया जाएगा।

बता दें कि मोदी सरकार ने आठ नवंबर, 2016 को 500 और 1,000 रुपये के नोटों को चलन से हटा दिया था। उसके बाद रिजर्व बैंक ने 500 के नए नोट के साथ 2,000 रुपये का भी नोट जारी किया था। नवंबर 2016 में 500, 1000 रुपये के जिन नोटों को बंद किया गया उनका उस दौरान कुल मुद्रा चलन में करीब 86 प्रतिशत हिस्सा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here