गोरखपुर: BJP सांसद कमलेश पासवान पर केस दर्ज, साजिश के तहत विवादित जमीन की चहारदीवारी गिराने का आरोप

0

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के संसदीय क्षेत्र गोरखपुर के बांसगांव से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सांसद कमलेश पासवान समेत 28 लोगों पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज किया है। बीजेपी सांसद पर कथित तौर पर भूमाफियाओं को शह देने के आरोप लगा है। सांसद पर रविवार (18 फरवरी) को रुस्तमपुर, नहर रोड स्थित एक प्लाट की नवनिर्मित चहारदीवारी गिराने की साजिश का आरोप है। पीड़ित ने सांसद समेत 28 भूमाफियाओं पर केस दर्ज कराया है। हालांकि किसी भी आरोपी की अभी गिरफ्तारी नहीं हुई है।

(HT File Photo)

न्यूज 18 की रिपोर्ट के मुताबिक, मामला कैंट थाना क्षेत्र के रूस्तमपुर इलाके का है, जहां राजघाट निवासी मोहम्मद असद उल्लाह की बेशकीमती जमीन है। आरोप है कि उसे हड़पने की नीयत से निकहत आरा नाम के शख्स ने फर्जी दस्तावेज के सहारे 29 फरवरी 2008 को तहसीलदार के यहां से एक पक्षीय आदेश करा लिया था। यह आदेश 2 अप्रैल 2012 को निरस्त हो गया था। आदेश निरस्त होने के बावजूद आरा ने जमीन का अनुबंध गुलरिहा निवासी सुरेंद्र प्रसाद के नाम से कर दिया था। रिपोर्ट के मुताबिक इस मामले में कैंट थाने में 3 मार्च 2017 को केस भी दर्ज हुआ था।

बताया जा रहा है कि उसी जमीन पर मोहम्मद असद उल्लाह निर्माण करा रहे थे। इसकी जानकारी जब आरा के बेटे अरशद अली उर्फ शानू और शाद अली उर्फ पप्पू को हुई तो उन्होंने सुरेंद्र प्रसाद को इसकी जानकारी दी। जिसके बाद सुरेंद्र अपने व साथी बलदेव प्लाजा के मालिक सतीश नांगलिया, प्रभाकर दुबे, अमित सिंह, सूरज ड्राइवर, अखिलेश दुबे, सोहन और नुमान हुसैन के साथ मौके पर पहुंच गए। आरोप है कि मौके पर दबंगई दिखते हुए सतीश नांगलिया ने अपने सहयोगियों के साथ बाउंड्री गिरा दी। जिसकी शिकायत असद उल्लाह ने पुलिस से की थी।

दैनिक जागरण में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, कैंट पुलिस ने बांसगांव के भाजपा सांसद कमलेश पासवान के विरुद्ध आपराधिक साजिश रचने का मुकदमा दर्ज किया है। इस मामले में सांसद के अलावा आठ नामजद और 20 अज्ञात को अभियुक्त बनाया गया है। सांसद कमलेश पासवान व निकहत आरा के विरुद्ध आपराधिक साजिश रचने तथा अन्य के विरुद्ध बलवा, मारपीट, तोड़फोड़ और आपराधिक अतिचार करने का अभियोग पंजीकृत हुआ है।

बनकटी चक, राजघाट निवासी असद उल्लाह वारसी ने सांसद और उनके समर्थकों के विरुद्ध तहरीर दी थी। इससे पहले 100 नंबर पर फोन कर उन्होंने सूचना दी थी कि सांसद कमलेश पासवान के समर्थक असलहों से लैस होकर रुस्तमपुर, नहर रोड स्थित उनके प्लाट की चहारदीवारी गिरा रहे हैं। इस सूचना पर कैंट पुलिस मौके पर पहुंची तो आरोपी फरार हो गए।

पूरी घटना CCTV में कैद

दैनिक जागरण के मुताबिक, सांसद कमलेश पासवान पर मुकदमें वाले मामले में पूरी घटना सीसीटीवी में कैद है। असद उल्लाह ने एहतियातन प्लाट में सीसीटीवी कैमरा लगा रखा था। बाद में सीसी टीवी फुटेज लेकर वह थाने पहुंचे और तहरीर दी। वादी ने तहरीर में बलदेव प्लाजा के मालिक सतीश नांगलिया, प्रभाकर दुबे, अमित सिंह, सूरज ड्राइवर, अखिलेश दुबे, सोहन नुमान हुसैन आदि पर चहारदीवारी गिराने के दौरान असलहा लहराने और उन्हें, उनके भाई व साथ के लोगों को बंधक बनाने का आरोप लगाया है।

तहरीर के आधार पर पुलिस ने देर रात इस मामले में मुकदमा दर्ज किया है। इंस्पेक्टर कैंट मनोज पाठक ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज के आधार पर मुकदमा दर्ज कर छानबीन की जा रही है। इस मामले में सांसद कमलेश पासवान व निकहत आरा के खिलाफ आईपीसी की धारा 120 बी और शेष अन्य लोगों के खिलाफ 147,148,149, 323, 427 व 447 के तहत मुकदमा दर्ज हुआ है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here