छात्रा का आरोप- गोवा के मंदिर में पुजारी ने की किस करने की कोशिश

0

गोवा के एक मंदिर में पुजारी द्वारा मेडिकल छात्रा से बदसलूकी का मामला सामने आया है। हालांकि श्री मंगुएशी मंदिर का कहना है कि आरोपों पर अभी पर्याप्त सबूत नहीं मिले हैं। मंदिर समिति को सौंपी अपनी शिकायत में पीड़ित छात्रा ने कहा है, ‘मंदिर के गर्भगृह के बाहरी इलाके में स्थित लॉकर एरिया में पहुंचकर उन्होंने मुझसे प्रदक्षिणा लेने के लिए कहा। उन्होंने इशारों में मुझे अपने पास बुलाया और अपनी बांह मेरे कंधों पर रख दी। इसके बाद उन्होंने मुझे कसकर जकड़ लिया और किस करने की कोशिश की।’

गोवा मूल की मेडिकल छात्रा ने अमेरिका पहुंचकर पुजारी के कथित दुर्व्यवहार का खुलासा किया है। दक्षिण गोवा के मंगेशी गांव में स्थितमंदिर की प्रबंध समिति श्री मंगुएश देवस्थान को दी अपनी शिकायत में छात्रा ने कहा है कि 22 जून को वह अपने माता-पिता के साथ मंदिर का दर्शन करने पहुंची थीं।

समाचार एजेंसी IANS के हवाले से नवभारत टाइम्स.कॉम में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक पीड़ित छात्रा का कहना है कि ऐसे बर्ताव से वह सदमे में आ गईं और उन्हें गहरा धक्का लगा। छात्रा के मुताबिक उन्हें इस वाकए से इतना गहरा झटका लगा कि जब वह मुंबई पहुंचीं, तब कहीं जाकर अपनी मां को घटना के बारे में बताया। छात्रा का कहना है, ‘जांच के तहत मंदिर कमिटी को 22 जून के सीसीटीवी फुटेज की जरूर जांच करनी चाहिए।’

पीड़िता को जवाब देते हुए मंगुएश देवस्थान समिति के सचिव अनिल केंकरे ने 11 जुलाई को लिखा कि प्रबंध समिति की 4 जुलाई को हुई आपात बैठक के दौरान उसकी शिकायत पर चर्चा की गई। केंकरे ने कहा, ‘आरोपों की जांच के दौरान कमिटी को को प्रथम दृष्टया विश्वास के लायक कोई सबूत नहीं मिला।’ साथ ही उन्होंने कहा कि अगर वह संतुष्ट नहीं हैं, किसी उचित अथॉरिटी के सामने अपनी शिकायत रख सकती हैं।

केंकरे ने साथ ही कहा, ‘मंदिर समिति ने उनको जवाब दे दिया है। इसके साथ ही मामला खत्म हो गया है।’ श्री मंगुएशी मंदिर में स्थित भगवान मंगुएश को भगवान शिव का ही अवतार माना जाता है। गोवा के इस मंदिर में पर्यटक और स्थानीय लोग भारी तादाद में दर्शन के लिए पहुंचते हैं। गौड़ सारस्वत ब्राह्मणों के वंशज इस मंदिर के देवता के प्रमुख रूप से अनुयायी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here