गोवा के डिप्टी स्पीकर ने कहा- ‘पर्रिकर की हालत बेहद खराब, उनके ठीक होने की कोई उम्मीद नहीं’, कांग्रेस ने सरकार बनाने का किया दावा

0

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विधायक और गोवा के डिप्टी स्पीकर माइकल लोबो ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की हालत बेहद खराब है और उनके ठीक होने की संभावना बेहद कम है। उन्होंने बीजेपी की बैठक के बाद कहा कि जब तक पर्रिकर हैं, तब तक गोवा के नेतृत्व में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा। बता दें कि गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर लंबे समय से बीमार चल रहे हैं।

गोवा विधानसभा के डिप्टी स्पीकर लोबो ने कहा कि हम उनके जल्द ठीक होने की प्रार्थना कर रहे हैं, लेकिन उनके ठीक होने की उम्मीद नहीं है। उन्होंने कहा कि उनकी तबीयत बहुत ज्यादा खराब है। अगर उनको कुछ भी होता है तो गोवा का अगला सीएम भी बीजेपी का ही होगा। उन्होंने कहा कि जब तक पर्रिकर यहां पर हैं तब तक बीजेपी का नेतृत्व गोवा में नहीं बदलेगा, वह मुख्यमंत्री बने रहेंगे।

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, माइकल लोबो ने कहा, ‘कल रात पर्रिकर की तबीयत बेहद खराब हो गई थी इस वजह से इमरजेंसी बैठक बुलाई गई थी। वह डॉक्टरों की निगरानी में हैं और वे ये नहीं कह रहे हैं कि पर्रिकर ठीक नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि विधानसभा की 3 सीटों पर उपचुनाव भी होना है। बैठक इन सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा को लेकर थी।’

उन्होंने आगे कहा, ‘गोवा में नेतृत्व नहीं बदलेगा। जब तक पर्रिकर हैं वही गोवा के मुख्यमंत्री रहेंगे और किसी ने उनकी जगह लेने की मांग नहीं की है। हम प्रार्थना कर रहे हैं कि वह ठीक हो जाएं, लेकिन इसकी कोई संभावना नहीं है। वह बहुत बीमार हैं। लेकिन यदि उन्हें कुछ हो जाता है तो अगला मुख्यमंत्री बीजेपी से ही होगा।’

इससे पहले पर्रिकर के स्वास्थ्य को लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया था, ‘मीडिया में कुछ रिपोर्टों के संबंध में, यह स्पष्ट किया जाता है कि मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की हालत स्थिर है।’

कांग्रेस ने सरकार बनाने का किया दावा

गोवा के अस्वस्थ मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की हालत बिगड़ने की खबरें आने पर शनिवार को कांग्रेस ने गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा को पत्र भेजकर सरकार बनाने का दावा किया। राज्यपाल को संबोधित पत्र में नेता प्रतिपक्ष चंद्रकांत कावलेकर ने कहा कि पर्रिकर के नेतृत्ववाली सरकार अल्पमत में है और इसके विधायकों की संख्या और घट सकती है।उन्होंने बीजेपी के नेतृत्व वाले गठबंधन सरकार को बर्खास्त करने और विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करने की मांग की।

मृदुला सिन्हा को लिखे पत्र में कावलेकर ने कहा, “प्रसंगवश भाजपा के दिवंगत विधायक फ्रांसिस डिसूजा की याद आती है, जिन्होंने विनम्रतापूर्वक कहा था कि मनोहर पर्रिकर के नेतृत्ववाली भाजपा सरकार लोगों का विश्वास पूरी तरह खो चुकी है और अब सदन में भी संख्याबल खो चुकी है।” यह अनुरोध करते हुए कि ऐसी अल्पमत सरकार को इस समय सत्ता में बने रहने की अनुमति न दें, उन्होंने लिखा, “हमारा यह भी अनुमान है कि भाजपा विधायकों की संख्या गिनती में और कम पड़ेगी।”

कावलेकर ने कहा, “इसलिए आपका कर्तव्य बनता है कि बीजेपी के नेतृत्ववाली सरकार को बर्खास्त कर यह सुनिश्चित करें कि इस समय सदन में बहुमत रखनेवाली सबसे बड़ी पार्टी इंडियन नेशनल कांग्रेस को सरकार गठन के लिए आमंत्रित किया जाए।” बता दें कि स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने 27 अक्टूबर को पहली बार आधिकारिक रूप से घोषणा की थी कि पर्रिकर पैंक्रियाटिक कैंसर से जूझ रहे हैं।

राणे ने संवाददाताओं को बताया था कि वह गोवा के मुख्यमंत्री हैं और बात यह है कि वह स्वस्थ नहीं हैं। उन्हें अग्न्याशय कैंसर है। इस तथ्य को नहीं छुपाया जा रहा। पर्रिकर को गत वर्ष सितंबर में दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती कराया गया था। हालांकि, उसके एक दिन बाद ही उन्हें एम्स से छुट्टी मिल गई। इससे पहले 62 वर्षीय मनोहर पर्रिकर बीमारी के चलते तीन महीने तक अमेरिका में इलाज चला था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here