गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का अब दिल्ली में होगा इलाज

0

पिछले कई महीनों से अस्‍वस्‍थ चल रहे भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता और गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की तबीयत एक बार फिर से बिगड़ गई है। ख़बर है कि उन्हें इलाज के लिए अब दिल्ली लाया जा रहा है।

Manohar Parrikar

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, मनोहर पर्रिकर इलाज के लिए आज दिल्ली पहुंच रहे हैं वह विशेष विमान से दोपहर बाद दिल्ली पहुंचेंगे। कहा जा रहा है कि यहां अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में उनका इलाज होगा। रिपोर्ट के मुताबिक, वह बीते दो दिन से गोवा के एक निजी अस्पताल में भर्ती थे और शुक्रवार को गणेश चतुर्थी उत्सव में भाग लेने अपने पैतृक घर पारा गांव के लिए रवाना हुए थे।

ख़बरों के मुताबिक, उनकी खराब सेहत के बाद गोवा में मुख्यमंत्री पद को लेकर अटकलें तेज हो गई है। बीजेपी के भीतर मनोहर पर्रिकर की लगातार खराब सेहत को देखते हुए चर्चा है कि राज्य का नेतृत्व बदला जाए। मनोहर पर्रिकर ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अध्यक्ष अमित शाह को फोन कर राज्य के लिये दूसरी व्यवस्था करने को कहा है। उन्होंने पार्टी अध्‍यक्ष के सामने सामान्‍य रूप से काम कर पाने में असमर्थता जताई है।

बता दें कि, गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर अग्नाशय की समस्या से पीड़ित हैं और इस साल अमेरिका में लगभग तीन माह तक इलाज कराने के बाद वह जून में भारत लौटे थे। इसके बाद उपचार के लिए वह इस महीने की शुरुआत में एक बार फिर अमेरिका गए थे और वह इलाज कराकर सितंबर के पहले सप्ताह में अमेरिका से वापस लौटे थे।

ख़बरों के मुताबिक, पिछले हफ्ते लौटने के बाद से पर्रिकर ने किसी सरकारी बैठक में भाग नहीं लिया। मुख्यमंत्री कार्यालय के अधिकारियों ने कहा था कि वह घर से ही फाइलें निपटा रहे हैं।

बता दें कि स्वास्थ्य कारणों से मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की सक्रियता घटने के बीच कांग्रेस नेता गिरीश आर. चोडांकर ने विधानसभा भंग पर अपना डर ​​व्यक्त करते हुए राज्‍यपाल मृदुला सिन्‍हा को पत्र लिखकर कहा है कि अगर विधानसभा भंग करने का कोई प्रयास किया जाता है तो कांग्रेस उसका कड़ा विरोध करेगी।

कांग्रेस नेता गिरीश आर. चोडांकर ने अपने पत्र लिखा है कि मनोहर पर्रिकर सरकार चलाने में अक्षम साबित हो रहे हैं। कांग्रेस राज्‍य की सबसे बड़ी पार्टी है, ऐसे में उसे सरकार बनाने का मौका दिया जाना चाहिए।

बता दें कि गोवा में गठबंधन की सरकार है। राज्य में पिछले साल हुए विधानसभा चुनावों में किसी भी दल को पूर्ण बहुमत नहीं मिला था। कांग्रेस कुल 40 में से 17 सीटों पर जीत दर्ज कर सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी। वहीं 13 सीटों के साथ बीजेपी दूसरे स्थान पर रही थी। हालांकि बाद में बीजेपी ने गोवा फॉरवर्ड पार्टी की मदद से मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व में गठबंधन कर सरकार बना ली, तब पर्रिकर केंद्र में रक्षा मंत्री थे और उन्होंने इस पद से इस्तीफा दे दिया था।

Pizza Hut

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here