दिल्ली के शेल्टर होम में लड़कियों के साथ दुर्व्यवहार, प्राइवेट पार्ट में मिर्च पाउडर डालते थे कर्मचारी

0

दिल्ली महिला आयोग की टीम ने गुरुवार को द्वारका के एक निजी शेल्टर होम (आश्रय गृह) पर छापा मारा। आयोग ने कहा कि आश्रय गृह में रहने वाली लड़कियों पर कर्मचारियों द्वारा यौन उत्पीड़न किया गया। आरोप है कि शेल्टर होम संचालक और कर्मचारी सजा के रूप में लड़कियों के निजी अंगों में मिर्च पाउडर तक छिड़क देते थे।

आश्रय गृह

डीसीडब्ल्यू ने एक बयान में कहा है कि समिति के सदस्यों ने 27 दिसंबर को नाबालिग लड़कियों के लिए चल रहे द्वारका के एक निजी शेल्टर होम का दौरा किया। डीसीडब्ल्यू के सदस्यों ने शेल्टर होम के अनुभवों को जानने के लिए 6-15 वर्ष की उम्र की लड़कियों के साथ बातचीत की। वहां लड़कियों के साथ की जा रही क्रूरता की बात जानकर वह दंग रह गई। जिसके बाद तुरंत पुलिस को इसकी सूचना दी गई। इसके बाद शेल्टर होम के स्टाफ के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है।

दिल्ली महिला आयोग के बयान में यह भी कहा गया है कि शेल्टर होम में पर्याप्त स्टाफ न होने की वजह से किशोर लड़कियों को बर्तन-कपड़े धोने, कमरे की साफ-सफाई और शौचालय की सफाई और रसोई घर के अन्य काम करने के लिए भी मजबूर किया जाता था। बयान में कहा गया है कि 22 लड़कियों और कर्मचारियों के लिए शेल्टर होम में केवल एक रसोइया था और बच्चों ने बताया कि उन्हें प्रदान किए जाने वाले भोजन की गुणवत्ता भी अच्छी नहीं थी।

आश्रय गृह में कुछ बड़ी लड़कियों ने आरोप लगाया कि महिला कर्मचारियों ने सजा के तौर पर उनके निजी अंगों (प्राइवेट पार्ट) में मिर्च पाउडर डाला। यह भी कहा गया कि उन्हें मिर्च पाउडर खाने के लिए मजबूर किया गया था। यह भी कहा गया कि बच्चों की ओर से कोई भी गलत व्यवहार उनके लिए गंभीर सजा साबित होते हैं।

यह भी कहा गया है कि किशोर लड़कियों ने शिकायत की कि उन्हें अपने कमरे को साफ नहीं रखने और कर्मचारियों की बात नहीं मानने के लिए तराजू से पीटा गया। उन्होंने कहा कि गर्मियों और सर्दियों की छुट्टियों के दौरान भी उन्हें घर जाने की अनुमति नहीं मिली थी।

इन गंभीर खुलासों के बाद समिति के सदस्यों ने दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल को इसकी सूचना दी। इस पर मालीवाल भी रात 8 बजे शेल्टर होम पहुंची। उन्होंने द्वारका के पुलिस उपायुक्त से बात की और तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों की एक टीम सादी वर्दी में वहां पहुंचे और इन्होंने बच्चियों के बयान दर्ज किए। दिल्ली पुलिस ने शेल्टर होम के स्टाफ के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

लड़कियों की सुरक्षा के लिए सरकार ने दिल्ली महिला आयोग की काउंसलर की एक टीम और सादी वर्दी में दिल्ली पुलिस के जवानों को तैनात कर दिया है। फिलहाल, पुलिस शेल्टर होम के कर्मचारियों से पूछताछ कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here